Take a fresh look at your lifestyle.

सीहोर : गांवों में पानी सफ्लाई बाल्ब बंद करने जाते है तो मारपीट करते है ग्रामीण मरदानपुर के बाल पम्प आपरेटरों ने कलेक्टर से की पुलिस सुरक्षा की मांग  

अमित मंकोडी

0 17

गांवों में पानी सफ्लाई बाल्ब बंद करने जाते है तो मारपीट करते है ग्रामीण
मरदानपुर के बाल पम्प आपरेटरों ने कलेक्टर से की पुलिस सुरक्षा की मांग  

 

सीहोर। ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना मरदानपुर में कार्यरत बाल पम्प आपरेटरों के साथ ग्रामीणों के द्वारा लगातार पानी सफ्लाई बाल्ब बंद करने को लेकर मारनीट की जा रही है। बाल पम्प आपरेटरों ने मंगलवार को कलेक्टोरेट पहुंचकर बाल पम्प आपरेटर यूनियन अध्यक्ष गोपाल पटेल के नेतृत्व डिप्टी कलेक्टर को ज्ञापन दिया है।
ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना मरदानपुर में कार्यरत बाल पम्प आपरेटरों ने कलेक्टर से पुलिस सुरक्षा महैया कराने और पेयजल टंकी मार्ग पर सीसी.सड़क बनाने सहित पम्प आपेरटर बाल्वमेन का मासिक वेतन दस हजार रूपये किए जाने की मांग की है।

यूनियन के गोपाल पटेल ने बताया की लम्बे समय से काफी कम वेतन में बाल पम्प आपरेटर काम कर रहे है। ग्रामीणों के द्वारा समय से पहले बाल्ब खोलने की जिद की जाती है और बाल्ब बंद करने पर बाल पम्प आपेरटर बाल्वमेनों के साथ मारपीट की जाती है। पानी की टंकियों के नीचे कच्ची जमीन होने पर परेशानियों का सामना करना होता है। बालमेन पम्प आपेरटर की पेजजल टंकी परिसर में या टंकी के कारण दुर्घटना भी सकती है।

ज्ञापन सौपने वालों में गोपाल पटेल, राकेश वर्मा, मुकेश बरेला, ओमप्रकाश मालवीय, छगनलाल, जगराम, भगत सिंह, राम सिंह बारेला, रामस्वरूप मीणा, अशोक सोमवंशी, विजय, राम सिंह, जीवन सिंह, प्रेम सिंह बारेला, पूनम सिंह, अमरजीत, अनिराज, शोभा राम, हरीराम आदि शामिल है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!