Take a fresh look at your lifestyle.

Video – आष्टा : हम तुम्हे बर्बाद कर देंगे, धुराडा मामले में शिक्षको को मिला धमकी भरा पत्र,शिक्षा विभाग की प्राइवेट स्कूलों पर कार्यवाही से नाराज लोगो ने दिया धमकी भरा पत्र

0 4

सीहोर.आष्टा- हम तुम्हे बर्बाद कर देंगे, धुराडा मामले में शिक्षको को मिला धमकी भरा पत्र,शिक्षा विभाग की प्राइवेट स्कूलों पर कार्यवाही से नाराज लोगो ने दिया धमकी भरा पत्र

आष्टा। गत दिवस हुए नकल माफियो द्वारा धुराडा में केंद्राध्यक्ष ओर सहयक केंद्राध्यक्ष के साथ मारपीट मामले में नया मोड़ आया है। अब शिक्षक को धमकीभरा पत्र मिला है। जानकारी के अनुसार विगत दिवस नकल न कराने पर गुस्साए नकल माफियाओं द्वारा धुराडा शासकीय स्कूल में केंद्राध्यक्ष ओर सहायक केंद्राध्यक्ष को घात लगाकर जानलेवा हमला किया था। जिसकी रिपोर्ट आष्टा थाने में दर्ज की गई थी। आरोपियों को गिरफ्तार करने को लेकर शिक्षकों ने ज्ञापन सौंपा था। उसे लेकर पुलिस प्रशासन ने 6 आरोपियों को गिरफ्तार भी किया था। उसके बाद नकल माफिया का राज खत्म करने के लिए शिक्षा विभाग ने कई प्राइवेट स्कूलों पर कार्यवाही की। जिसे लेकर आज एक बेनाम धमकी भरा पत्र जिसमे लिखा हुआ है की जीवन सिंह, यशवंत सिंह, कल्याण सिंह, चंदरसिंह, जय सिंह ठाकुर, कमल बैरागी, चंदन पाटीदार आपके द्वारा एस डी एम को ज्ञापन दिया गया था जिसमे आप लोगो ने प्राइवेट स्कूलों के खिलाफ 9वी में 50 बच्चे, 10वी में 500 बच्चे, 11वी में 60 बच्चे और 12 में 600 बच्चे बताये गए। जिसके कारण हम बर्बाद हो गए। अब आप लोगो की बर्बादी की बारी है। आप जितने नेता बनते हो अब आपको बताएंगे ओर एक एक को चुन कर बदला लेंगे। याद रखना अब हमारा नंबर है। ये लेटर कमल बैरागी अध्यापक शासकीय माध्यमिक शाला मुबारिकपुर निवास बजरंग कालोनी ओर जयसिंह ठाकुर अध्यापक  लसुडलिया विजयसिंह के घर ओर मिला। बेनाम लेटर मिलने के बाद शिक्षक लोग एसडीएम के नाम एक ज्ञापन नायाब तहसीलदार अंकिता वाजपेयी को सौप कर कठोर कार्यवाही की मांग की गई। गौरतलब है कि बीते दिनों परीक्षा करके लौट रहे केंद्र अध्यक्ष के साथ मारपीट हुई थी और साथ ही गणित का पर्चा भी समय से पहले लीक हुआ था इन सभी चीजों के चलते शिक्षा विभाग सवालों के कटघरे में खड़ा हो गया था शासकीय शिक्षकों द्वारा अशासकीय प्राइवेट विद्यालय के संचालकों की मनमानी को लेकर एसडीएम को ज्ञापन भी सौंपा गया था जिसके बाद भी कुंभकरण की नींद सोया शिक्षा विभाग जांच का आश्वासन देता रहा और अभी तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं कर पाया जिसके करण अशासकीय शिक्षकों के घरों के बाहर असामाजिक तत्व इस तरह के पत्र फेंक कर चल दिए अब देखना है किस विषय पर जिलाधिकारी और शिक्षा विभाग क्या कार्रवाई करते हैं

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!