Take a fresh look at your lifestyle.

आष्टा: बहन प्रतिक्षा शर्मा को न्याय दिलवाने फिर एक बार सभी संगठन फिर उतरे मैदान में , अपराधियों को शिघ्र गिरफतार करने हेतु सौंपा ज्ञापन।

अमित मंकोडी

0 34

बहन प्रतिक्षा शर्मा को न्याय दिलवाने व अपराधियों को शिघ्र गिरफतार करने हेतु सौंपा ज्ञापन
आष्टा। कलेक्टर एंव पुलिस अधिक्षक के नाम संबोधित हिन्दु उत्सव समिति, माृतशक्ति एवं व्यापारी महासंघ द्वारा आज बहन प्रतिक्षा शर्मा को न्याय दिलाने एक ज्ञापन पुलिस अधिक्षक महोदय के नाम एक ज्ञापन अनुविभागीय अधिकारी (पुलिस) को तहसील कार्यालय पहुंचकर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के माध्यम से मांग की गई कि अपारधियों को शीघ्र गिरफतार कर उन पर कडी से कडी कार्यवाही की जाए साथ ही बताया गया कि बहन प्रतिक्षा शर्मा पिता श्री जागेश्वर तिवारी निवासी सुभाष नगर आष्टा की प्रसव के दौरान पुष्प कल्याण अस्पताल आष्टा में मौजूद चिकित्सकों, नर्स एवं अन्य स्टाॅफ के द्वारा यह जानते हुये कि उनके द्वारा इस कृत्य से जच्चा-बच्चा की मौत हो जायेगी उसके बाद भी चिकित्सकों एवं नर्स द्वारा ऐसा कृत्य किया जिससे जच्चा-बच्चा की मौत हो गई इस मामले मे जाचं रिपोर्ट के बाद पुलिस द्वारा धारा 304 भा.द.वि. का प्रकरण तीन आरोपियों के विरूद्ध दर्ज किया गया।

 


इस मामले में तीनो आरोपियों डाॅ0 हरमन जोसेफ, डाॅ0 सबीहा अंसारी एवं सिस्टर लारेन को पुलिस ने अभी तक गिरफ्तार नही किया। इस ज्ञापन के माध्यम से प्रार्थना करते है कि तीनो आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार किया जाये साथ ही जांच दल द्वारा अपनी रिपोर्ट मे यह उल्लेख किया गया है कि पुष्प कल्याण अस्पताल आष्टा मे अस्पताल प्रबंधन द्वारा पूर्णकालिक स्त्री रोग विशेषज्ञ एवं निश्चेतना विशेषज्ञ नही होने के बाद भी स्टाॅफ द्वारा सिजेरियन डिलेवरी जैसी संवेदनशील चिकित्सकीय सेवाए दी जा रही है जो जनमानस के उपचार हेतु वैद्य नही है। जांच दल के इस निष्कर्ष से स्पष्ट है कि पुष्प कल्याण अस्पताल आष्टा मे पूर्णकालिक स्त्री रोग विशेषज्ञ नही है ऐसी स्थिति मे यह अस्पताल डिलेवरी कराने की योग्यता नही रखता है अस्पताल में बी.यू.एम.एस. ;ठन्डैद्ध और बी.ए.एम.एस. ;ठ।डैद्ध डिग्रीधारी एलोपेथिक पद्धति पर उपचार कर रहे है। जबकि यह कानून के विरूद्ध है एवं भारतीय चिकित्सा परिषद् भी इसकी इजाजत नही देती है लेकिन स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों की मिली भगत के चलते यह सब कार्य पुष्प अस्पताल कल्याण आष्टा में चल रहे है इसीलिये हम यह मांग करते है कि पुष्प कल्याण अस्पताल आष्टा को बन्द किया जावे एवं अस्पताल की जाचं की जाये तथा जो जांच दल बनाया जाये उसमे आष्टा एवं सीहोर के प्रभारी स्वास्थ्य अधिकारियों को शामिल नही किया जावे। यह भी प्रार्थना करते है कि जो स्वतंत्र जांच दल बनाया जाये उसे प्रशासन, चिकित्सक और अन्य लोगों को समाहित किया जाये, साथ ही निवेदन किया कि जांच चलने के दौरान पुष्प कल्याण अस्पताल आष्टा बन्द रखा जाये एवं अभी तक जितनी भी डिलेवरी हुई है उसके परिणामों की जांच की जावे एवं मृत्यु की समीक्षा की जाये।
प्रतिक्षा शर्मा के हत्यारों को शीघ्र अतिशीघ्र गिरफ्तार किया जाये एवं पुष्प कल्याण अस्पताल आष्टा को बन्द किया जाये। यदि तीन दिवस के अन्दर यह कार्यवाही नही की गई तो मजबूरी मे नगर बन्द एवं धरना प्रदर्शन करने पर मजबूर होना पड़ेगा।
आज उक्त अवसर पर नगर के अनेक लोग माृतशक्ति एवं व्यापारी भाई उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!