Take a fresh look at your lifestyle.

सीहोर : महिला कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी कर किया प्रदर्शन   ग्रामीणों को नहीं मिल रहा है शासकीय योजनाओं का लाभ   सपा ने रैली निकालकर दर्ज कराया कड़ा विरोध  

अमित मंकोडी

0 8

महिला कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी कर किया प्रदर्शन
ग्रामीणों को नहीं मिल रहा है शासकीय योजनाओं का लाभ
सपा ने रैली निकालकर दर्ज कराया कड़ा विरोध
फोट
सीहोर। समाजवादी पार्टी की महिला कार्यकर्ताओं ने ग्रामीणों को प्रधानमंत्री आवास योजना,वृद्धा पेंशन योजना, बीपीएल राशन कार्ड योजना शौचालय योजना का लाभ नहीं मिलने को लेकर मंगलवार को रविंद्र सांस्कृतिक भवन टाउन हाल से कलेक्ट्रेट तक रैली निकालकर कड़ा विरोध दर्ज कराया है।   समाजवादी पार्टी जिलाध्यक्ष इंदिरा भील के नेतृत्व में महिलाओं के द्वारा कलेक्टर के नाम डिप्टी कलेक्टर रवि वर्मा को ज्ञापन दिया गया।

जिलाध्यक्ष इंदिरा भील ने ज्ञापन का वाचन करते हुए कहा की ग्राम महोडिया में निवासरत गरीब अनुसुचित जाति की महिलाओं को शासकीय योजना का लाभ जानबूझ ग्राम पंचायत के द्वारा नहीं दिया जा रहा है। ग्राम पंचायत के द्वारा अपात्रोंं को योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है। ग्रामीणों के द्वारा  अनेक बार सरकारी कार्यालयों में योजनाओं के लाभ के लिए आवेदन दिए गए है लेकिन कोई भी सुनने को तैयार नहीं है जांच के बाद भी आयोजनाओंं से अपात्र घोषित कर दिया जाता है।

जबकी गांव के  धनिक लोगों को लोगों को प्रधानमंत्री आवास, शोचालय, वृद्धा पेंशन दिव्यांग पेशन का लाभ दिया  जा रहा है। पूराने कच्चे मकानों के पटटे नहीं होने से बैंकों से लोन भी नहीं मिल रहा है। बीपीएल कार्ड नहीं होने से सरकारी राशन दुकान से राशन भी नहीं मिल रहा है। जिस कारण परेशानियों का सामना  करना पड़ रहा है। जिलाध्यक्ष इंदिरा भील ने जिला प्रशासन से पात्र ग्रामीणों को संपूर्ण शासकीय योजनाओं को  लाभ दिलाने और अपात्र हितग्राहियों को प्रदान किए गए लाभ को वापस लेने सख्त कार्रवाहीं करने का मांग की है।

प्रदर्शन में बाबू भाई,बिंदा बाई,संज्ञा बाई, बसंता बाई, सीमा बाई, पूर्णिया बाई,  सरिता बाई दुर्गा बाई, सुगन बाई,शारदा बाई, ममता बाई,देवकली बाई, संगीता बाइर्, सुमन बाई, चंदाबाई, ललिता बाई, ममता बाई, पार्वती बाई, शिवानी बाई, पूजा बाई, राजकुमारी बाई मनीषा बाइर्, शकुंतला बाई, संजू बाई, सुनीता बाई,संगीता बाई, पंचू बाई,कांताबाई ममता बाइर्, भूरी बी,नसीम बी, पूजा भाई, प्रेम बाई, भूरिया बी, बसंती बाई आदि ग्रामीण महिलाएं शामिल रहीं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!