Take a fresh look at your lifestyle.

सीहोर/आष्टा : सजा दो घर को गुलशन सा मेरे सरकार आए है माता मंदिर चौक अलीपुर में हुआ प्रभुप्रेमी संघ का मासिक सत्संग

अमित मंकोडी

0 8

सजा दो घर को गुलशन सा मेरे सरकार आए है
माता मंदिर चौक अलीपुर में हुआ प्रभुप्रेमी संघ का मासिक सत्संग

ंआष्टा। लाखों नागा साधुओं के आचार्य भारत माता मंदिर के प्रमुख महामंडलेष्वर अनंत श्री विभूषित स्वामी अवधेषानंद गिरिजी महाराज द्वारा संस्थापित प्रभुप्रेमी संघ का मासिक सत्संग अलीपुर निवासियों एवं घनश्याम जांगड़ा मित्र मंडल द्वारा माता मंदिर चौक अलीपुर पर आयोजित किया गया।
इस दिव्य सत्संग में नगर के प्रख्यात भजन गायक श्रीराम श्रीवादी, कौशिकी श्रीवादी, श्वेता मालवीय, शैलेष शर्मा, नीलेश शर्मा, राजीव मालवीय, दिनेश मेवाड़ा, ज्ञानसिंह मेवाड़ा, जीवनराज, सुमित चौरसिया द्वारा सुमधुर भजनों की एक से बढ़कर एक प्रस्तुति दी गई, जिनका साथ तबले पर रविन्द्र ठाकुर एवं ढोलक पर मोहनदास द्वारा दिया गया।
देर रात्रि तक चले इस दिव्य धार्मिक समारोह में नगर के अनेक श्रद्धालु मौजूद थे। सत्संग में भजन गायकों ने ऊंचे-ऊंचे उड़े है निशान मैया तेरा मंदिर सजे…, मदनगोपाल शरण तेरी आयो…, उसी भंवर में थी मेरी नैया, चलाई गुरूवर तो चल पड़ी है…, तेरा किसने किया है श्रृंगार सांवरे, तू लगे राधा से प्यारा सांवरे…, जब तू हंसे तो मैं हंस देता हूं, जब तू रूलाये तो मैं रो देता हूं, चलता हूं में वैसा जैसा तू चलाता है…. जैसे भावप्रिय भजनों की प्रस्तुति भजन गायको ने दी। श्रृंगार रस, वीर रस, ओझ रस से ओतप्रोत इस भजन संध्या में भजन गायकों ने सजा दो घर को गुलशन सा मेरे सरकार आए है…, हनुमान गगन उड़ चले जय बजरंग बली हनुमान…, गुरू बिना कोई काम न आवे…, तुम मेरे जीवन के धन हो और प्राणहार हो… जैसे भजनों की भी प्रस्तुति दी गई। भजन गायको ने कबीर वाणी मत कर माया का अभिमान, काया धूल हो जाती, कायागार से काची जैसा औेसरा मोती… जैसी पंक्ति को उद्दत करते हुए जीवन की वास्तविकताओं से भी उपस्थितजनों को रूबरू कराया। कार्यक्रम की शुरूआत घनश्याम जांगड़ा एवं परिवारजन द्वारा स्वामीजी के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलन कर की गई। महाआरती के कार्यक्रम में पूर्व विधायक शैलेन्द्र पटेल, प्रभुप्रेमी संघ अध्यक्ष सुरेश पालीवाल, संयोजक कैलाश परमार, प्रभुप्रेमी संघ कोठरी अध्यक्ष सुरेश पटेल, समाजसेवी महेन्द्र पटेल विशेषरूप से उपस्थित थे।
कार्यक्रम में आचार्यश्री की चरण-पादुका की उपस्थित सभी श्रद्धालुओं द्वारा कतारबद्ध होकर पूजा-अर्चना की गई। कार्यक्रम में विषेष रूप से गुरूमंत्र, गायत्रीमंत्र, ओमनाद्, महामृत्युंजय मंत्र का जाप किया गया एवं हनुमान चालीसा का पाठ भी किया गया। कार्यक्रम का संचालन गोविंद शर्मा ने किया। इस अवसर पर प्रभुप्रेमी संघ के पदाधिकारीगण के साथ ही बड़ी संख्या में श्रद्धालुजन मौजूद थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!