Take a fresh look at your lifestyle.

आष्टा : बेटी, बहन, पत्नी व मां की प्रतिमूर्ति है भारतीय नारी–साधना राय

अमित मंकोडी

0 16
बेटी, बहन, पत्नी व मां की प्रतिमूर्ति है भारतीय नारी–साधना राय

 स्वागत व सम्मान करते हुए साधना -सपना राय आदि
आष्टा।ईश्वर ने भारतीय नारी शक्ति को त्याग, बलिदान, सेवा, समर्पण, ममता, दया व करुणा के अनमोल खजाने की मालकिन बनाया है। फिर भी हम दीन -हीन दशा के नाम पर समय बर्बाद करते हैं। ईश्वर को कभी खुश करने का प्रयास भी नहीं करते। नारी कभी बेटी तो कभी बहन के साथ पत्नी व जन्मदात्री मां की प्रतिमूर्ति होती है। नारी के बिना यह संसार घर -परिवार अधूरा है।
उक्त बातें अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस  पर शिवालय हॉस्पिटल द्वारा शीतल होटल परिसर में आयोजित स्वागत व सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए शिवालय हॉस्पिटल की संचालिका समाज सेविका साधना प्रेम कुमार राय मामा ने कही। आपने कहा कि प्रत्येक सफल व्यक्ति के पीछे नारी का हाथ रहता है।
 अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर हुए नारी शक्ति सम्मेलन में सपना राय ने कहा कि आज पूरी दुनिया में भारत की नारियों ने अपना एक विशेष स्थान अधिकांश क्षेत्रों में बनाया है। श्रीमती साधना प्रेम राय ने कहा कि इतिहास से प्रमाण मिलते हैं जब-जब भी परिवार, समाज व राष्ट्र में परिवर्तन हुए है, तब-तब नारी शक्ति का नेतृत्व सशक्त रहा है। नारी के सशक्त नेतृत्व से प्रगति, समृद्धि व विकास के प्रतिमान विकसित होते हैं। श्रीमती राय एवं डॉक्टर कुणाल राय ने उपस्थित नारी शक्ति से आह्वान करते हुए कहा हमें कुरीतियों व संकीर्ण मानसिकता से बाहर निकल कर परिवार व समाज में नवनिर्माण के लिए अपनी श्रेष्ठ भूमिका का निर्वहन करना होगा। अखिल भारतीय महिला जागृति मंच की पूर्व राष्ट्रीय संयुक्त सचिव प्रीति जैन ने इस अवसर पर जहां शिवालय परिवार के प्रमुख प्रेम कुमार राय मामा, साधना राय, डॉक्टर कुणाल राय ,सपना राय के समाज सेवा के क्षेत्र में सराहनीय सेवाओं का उल्लेख किया। वहीं उन्होंने इस भव्य आयोजन के लिए शिवालय परिवार एवं राय परिवार को बधाई दी ।समारोह में अतिथि के रूप में शामिल नरेंद्र गंगवाल ने कहा कि चाहे कोई सा भी क्षेत्र हो हर क्षेत्र में प्रेम कुमार राय मामा एवं परिवार द्वारा सराहनीय मानव सेवा की जाती है ।उन्होंने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर समारोह में उपस्थित सभी मातृ शक्तियों से आग्रह किया कि कभी भी हिम्मत नहीं हारे और लक्ष्य बनाकर अपने इस जीवन को सार्थक करें। कार्यक्रम का संचालन कर रहे शिवालय हॉस्पिटल के प्रबंधक नवीन जैन एवं स्त्री प्रसूति एवं बांझपन रोग विशेषज्ञ डॉक्टर लावण्या बी ने कहा कि शिवालय हॉस्पिटल में आने वाले प्रत्येक मरीज की निस्वार्थ भावना से सेवा व उपचार किया जाता है ।नाम मात्र का शुल्क लिया जाता है। महिला जागृति मंच के अध्यक्ष सीमा गंगवाल, श्रृद्धा गंगवाल , खुशी कासलीवाल , सपना राय, शिवानी राय , वैशाली जैन ,श्वेता जैन साक्षी  , रुपाली धर्मेंद्र जैन ने बेटी, बहन, पत्नी व मां की भूमिका पर प्रेरक गीत प्रस्तुत किया।  ने कहा नेतृत्व का आदर्श उस नारी में प्रकट होता है जिसके जीवन का हर आयाम प्रेरक होता है। जिसमें साहस की प्रबल ऊर्जा दिखाई देती है। जो उद्देश्यों के प्रति पल-पल कुछ नया करने की क्षमता भी रखती है। जो विनम्रता, सदाशयता व सहिष्णुता के गुणों से अपनी टीम के साथ सामंजस्य बिठाकर कार्य करने की क्षमता भी रखती हो। इस दौरान डॉ दीपक  भालेकर
रेडियो लाजिस्ट एवंं स्वास्थ्य सेवाओं से जुुड़ी अन्य महिलाएं एवं शिवालय स्टॉप उपस्थित था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!