Take a fresh look at your lifestyle.

निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन के लिए अधिकारी समन्वय के साथ काम करें और निर्वाचन आयोग के निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित हो:-जिला निर्वाचन अधिकारी

0 5

निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन के लिए अधिकारी समन्वय के साथ काम करें और

निर्वाचन आयोग के निर्देशों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित हो:-जिला निर्वाचन अधिकारी

सीहोर,16 जून,2022

      त्रि-स्तरीय पंचायत आम निर्वाचन एवं नगरीय निर्वाचन 2022 के चुनाव निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने में राजस्व अधिकारियों के साथ ही नोडल अधिकारियों की भी महत्वपूर्ण भूमिका है। सभी नोडल अधिकारी सौंपे गये दायित्वों का निष्ठापूर्वक समन्वय बनाकर निर्वहन करें। यह निर्देश कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने नोडल अधिकारियों को एक बैठक के दौरान कही।

      कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि सभी नोडल अधिकारी पूरी मुस्तैदी के साथ सम्पत्ति विरूपण, आबकारी एक्ट, शस्त्र अधिनियम, शासकीय, सार्वजनिक एवं निजी सम्पत्तियों में संपत्ति विरूपण की कार्रवाई कराने के साथ ही आबकारी एक्ट के तहत अवैध शराब की जप्ती और वाहनों की सघन जांच करें। उन्होंने कहा कि सेक्टर अधिकारियों की चुनाव संपन्न कराने में महत्वपूर्ण भूमिका होती है। सेक्टर अधिकारी का अपने सेक्टर के अधिकारी-कर्मचारियों से जितना अधिक जीवंत सम्पर्क और समन्वय होगा, निर्वाचन की प्रक्रिया सम्पन्न कराना उतना ही आसान होगा। निर्वाचन प्रक्रिया के दौरान निष्पक्ष एवं शुद्धता के साथ निर्वाचन गतिविधियों को स्वतंत्र रूप से सम्पादित करने के लिए आवश्यक है कि सेक्टर अधिकारियों को अपने सेक्टर की सूक्ष्म से सूक्ष्म जानकारी हो।

      कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया को सुगमता से सम्पन्न कराने तथा मतदान एवं मतगणना के लिए कम्युनिकेशन प्लान ऐसा बनाया जाए जिससे मतदान एवं मतगणना में आ रही कठिनाईयों का तुरंत समाधान कर सके। और मतदान सामग्री वितरण एवं वापसी की व्यवस्था ऐसी हो कि मतदान दलों के लिए सुविधाजनक हो और उन्हें किसी तरह की कोई कठिनाई न आए। उन्होंने बसों के रूट चार्ट बनाने और बसों को ट्रैक करने के लिए व्हॉट्सएप ग्रुप बनाने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मतदान सामग्री वितरण केन्द्र तथा मतदान के दौरान सेक्टर अधिकारियो की टीम के साथ ही स्वास्थ्य अमले की भी ड्यूटी लगाई जाए। उन्होंने सभी अधिकारियों को आदर्श आचरण संहिता का पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्थानीय निकायों में पार्षदों के निर्वाचन व्यय की सीमा निर्धारित की गई है। पार्षदों के निर्वाचन व्यय का लेखा रखने के लिए लेखा संबंधी ज्ञान रखने वाले अधिकारी कर्मचारियों की ड्यूटी के निर्देश दिए। उन्होंने निर्वाचन के संबंधित सभी अधिकारी-कर्मचारियों के परिचय पत्र बनाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने समस्त नोडल अधिकारियों को समय पूर्व सभी तैयारियां सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!