Take a fresh look at your lifestyle.

आष्टा/जावर:लूट की वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी शुजालपुर रोड़ से भागना चाहते थे, लेकिन वे रास्ता भटक कर ग्राम शंभुखेडी पहुच गए

0 554

लूट की वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी शुजालपुर रोड़ से भागना चाहते थे, लेकिन वे रास्ता भटक कर ग्राम शंभुखेडी पहुच गए। जहां पुलिस से बचने के लिए प्रभातफैरी में शामिल हो गए पर ग्रामीणों की सर्तकता के चलते पकडे गए।  इधर पकड़े गए पांचों आरोपियों को उज्जैन के निकट माकरोन एवं पानविहार ले जाया गया हैं, ताकि लूट का माल बरामद किया जा सके। हायवे पर दो वारदात जावर, एक सोनकच्छ तथा एक चापड़ा में हुई हैं।

 


गुजरात के गरूडेश्वर से प्रयागराज दर्शन हेतु जा रहे यात्रियों के वाहन को आरोपियों ने रोका और वाहन में सवार १० लोगो के पास से नगदी और सोने-चांदी के आभूषण और मोबाईल फोन लूट कर फरार हो गए। घटना की रिपोर्ट पर जावर पुलिस ने लूट का मामला दर्ज किया हैं। इसी प्रकार ३१ मई को भी सोल रीट्रीट के निकट शुजालपुर निवासी अधिवक्ता के परिवार के साथ भी लूट की वारदात घटित हुई थी। इस प्रकार अज्ञात आरोपियों ने एक सप्ताह में लूट की दो वारदातों को अंजाम दिया।

ग्राम शंभुखेड़ी के ग्रामीणों के अनुसार यहां पर यज्ञ का आयोजन किया गया हैं, जिसके चलते बुधवार की सुबह ५ बजे के लगभग गांव में प्रभातफैरी निकल रही थी, इधर लूट की वारदात के आरोपियों को खोजने में पुलिस व्यस्त थी। पुलिस की हलचल को देख तीन आरोपी इस प्रभातफैरी में शामिल हो गए। वही दो आरोपी गांव के निकट नाले के पास बैंठे रहे, पुलिस जब गांव में पहुची और जानकारी ली तो ग्रामीणों ने बताया कि प्रभातफैरी में शामिल तीन लोग नए होकर गांव के नही हैं।

पुलिस ने इन तीनों को दबोचा। शोर सुनकर नाले में छिपे दो आरोपी भाग निकले, इन्हे ग्राम सेवदा के नाले के पास पुलिस ने पकड़ा। लूट की वारदात में प्रयुक्त वाहन भी पुलिस ने ग्राम शंभुखेड़ी के नाले के निकट से जप्त किया हैं।
ज्ञात रहे कि ३१ मई मंगलवार की रात कार क्रमांक एमपी ०४ सीक्यू ६७१० में सवार होकर इंदौर से शुजालपुर के लिए अधिवक्ता रितेश चौधरी रवाना हुए, रात ११ बजे के लगभग उनकी कार सोल रीट्रीट के निकट पहुची तभी काले रंग की एक कार ने ओव्हर टेक किया और कार में से ४ आरोपी उतरे जिन्होने कार के सामने का काच तोड दिया और दूसरे ने डाईवर साईड के गेट का काच तोड और फिर १२ हजार नगदी, मोबाईल और उनकी पत्नि के सोने की चेन, अंगुठी, सोने की नथ लूट ली तथा कार की चाबी भी अपने साथ लेकर आष्टा की और भाग गए। इस घटना की जावर थाने में रिपोर्ट करने पर लूट की वारदात दर्ज की गई थी।

 

दूसरी वारदात ७ जून को सोमवार और मंगलवार की दरम्यानी रात को २:30 बजे के लगभग डोडी के निकट घटी। गुजरात के गरूडेश्वर से प्रयागराज दर्शन हेतु जा रहे यात्रियों की टवेरा वाहन क्रमांक जीजे २२ ए १९६४ को डोडी घाटी के निकट आरोपियों ने रोका और आगे का काच पत्थर और लाठी से तोड़ दिया और फिर वाहन में सवार नयन से सोने की चेन, दो सोने की अंगुठी और २० हजार रूपये, पारूल बेन से मंगलसूत्र दो सोने की अंगुठी, आयुषी से कान की बाली, माही से कान की बाली, भरत २० हजार रूपये नगदी, चंपा बेन से मंगलसूत्र और चांदी की चेन, कान की बाली तथा इनके मोबाईल फोन के साथ वाहन की चाबी लेकर आष्टा की और भाग गए।
एक सप्ताह में घटी दोनो घटनाओं को देखी जाए तो वारदात करने का तरीका और घटना स्थल पास पास हैं, दोनो की वारदात में आरोपियों ने अपने वाहन को आगे करने के बाद धीमाकर पीछे वाले वाहन को रोका और फिर हमला कर लूट की वारदात को अंजाम देकर वाहन की चाबी लेकर आष्टा की और भाग निकले। एक सप्ताह में दो लूट की वारदातों से पुलिस की राजमार्ग पर गश्त के दावे की तो पोल खुलती ही हैं, पुलिस खुद भी असमंजस में थी कि आखिर वह कौन हैं, जो वारदात को अंजाम दे रहे हैं।


कहते हैं बुरे का साथ कोई नही देता, इसी के चलते आरोपी वारदात के बाद रास्ता भटकर सेवदा के स्थान पर शंभुखेडी ग्राम की और मुड गए। इसका परिणाम यह हुआ कि शंभुखेडी ग्राम के आगे पक्का रास्ता बंद हो गया और आरोपी दिन निकलने के चलते और पुलिस की उपस्थिति के चलते नाले में छिप गए। यही से तीन आरोपी गांव में निकल रही प्रभातफैरी में शामिल हो गए। दो नाले में छिपे रहे, पुलिस ने जैसे ही ग्रामीणों से पूछा की यहा कोई बाहरी व्यक्ति तो नही आया तो ग्रामीणों ने तीनों की और इशारा किया, यह देख आरोपी भागने लगे जिन्हे पुलिस ने दबोचा। आवाज सुनकर नाले में छिपे दो आरोपी जब भागे तो पुलिस ने उनका पीछा किया और सेवदा ग्राम की और जाने वाले नाले के निकट दबोच लिया। इस प्रकार पुलिस के हत्थे पांचों आरोपी आ गए।


जावर टीआई मदन इवने ने बताया कि सभी आरोपियों को लेकर उज्जैन के निकट माकरोन लेकर आए हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!