Take a fresh look at your lifestyle.

सीहोर : तापमान बढ़ने से बढ़ा मौसमी बीमारियों का खतरा स्वास्थ्य विभाग ने जारी किए बचाव के निर्देश

0 1

तापमान बढ़ने से बढ़ा मौसमी बीमारियों का खतरा

स्वास्थ्य विभाग ने जारी किए बचाव के निर्देश

सीहोर 25 अप्रैल,2019

गर्मी के मौसम में तापमान के बढ़ने से मौसमी बीमारियों का खतरा बढ़ने लगा है। तापमान के बढ़ने तथा दूषित खाद्य पदार्थों के उपयोग से इस मौसम में उल्टी-दस्त, पीलिया,बुखार (मलेरिया, डेंगू, डायफायड,चिकनगुनिया) तथा अन्य बीमारियों जैसे मीजल्स या खसरा,छोटी माता (चिकनपाक्स) लू लगना आदि की संभावना बढ़ जाती है। 

 लू लगने के बचाव के लिए आवश्यक है कि पेय पदार्थों जैसे पानी, छाछ, जूरा इत्यादि का अधिकतम उपयोग किया जाये। तेज धूप में निकलने से बचा जाय,जब भी धूप में निकले तो सिर व शरीर का अधिकतम भाग ढंका हो। सूती कपड़ों का उपयोग करें। लू लगने से चक्कर आना, उल्टियां घबराहट तेज बुखार आदि लक्षण दिखायी दे सकते हैं। इन लक्षणों के दिखने पर तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्रों में संपर्क करें। गर्मी के मौसम में खाद्य पदार्थ जल्दी खराब हो जाते हैं। साथ ही पानी की कमी से इसके दूषित होने का खतरा बढ़ जाता है। इनके कारण उल्टी-दस्त व पीलिया होने का खतरा अपेक्षाकृत अधिक होता है। इसके बचाव के लिए दूषित  बासी भोजन,दूषित पानी के प्रयोग से बचे। उल्टी-दस्त होने पर तत्काल ओ.आर.एस.का प्रयोग प्रारंभ करें तथा नजदीकी स्वास्थ्य संस्था से तुरंत संपर्क करें। इस बदले मौसम में संक्रामक बीमारियों जैसे खसरा व छोटी माता का प्रकोप भी बढ़ने की आषंका रहती है। बचाव के लिए सभी बच्चों का आवष्यक रूप से आयु अनुसार टीकाकरण पूर्ण करवाएं। किसी भी बच्चों को इससे पीड़ित होने पर झाड़फूंक के चक्कर में न पड़कर तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य संस्था में संपर्क करें। वाहक जनित रोगों जैसे डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया से बचाव हेतु मच्छरदानी का प्रयोग करें। आसपास पानी एकत्र होने से रोके। घर में उपयोग होने वाले पानी के बर्तनों को सप्ताह में दो बार साफ रखें। लाल दाने के साथ बुखार,जोड़ों में दर्द के साथ बुखार आने पर तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य संस्था से संपर्क करें। इस दौरान आवश्यकता पड़ने पर पैरासिटामाल का उपयोग करें तथा एरिप्रन के उपयोग से बचे। इस संबंध में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा समस्त अधीनस्थ स्वास्थ्य संस्थाओं को सभी जरूरी दिषा निर्देष जारी कर आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चत करने हेतु निर्देशित किया गया है।  

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!