Take a fresh look at your lifestyle.

सीहोर : दस्तक अभियान: तीन दिवस में 17 हजार 124 बच्चों का किया गया परीक्षण

0 1


गंभीर एनीमिया वाले 142 बच्चे उपचार के लिए रेफर

सीहोर 13 जून,2019

      दस्तक अभियान प्रथम चरण (10 जून से 20 जुलाई) के अंतर्गत बीते तीन दिवसों में मैदानी अमले द्वारा 17 हजार 124 बच्चों का घर-घर दस्तक देकर परीक्षण किया गया। जिले में बनाए गए 296 दस्तक दलों द्वारा घर-घर पहुंचकर 11 प्रकार की स्वास्थ्य सेवाएं 0 से 5 वर्ष तक आयु वाले बच्चों को दी जा रही है। दस्तक दल में ए.एन.एम., आशा तथा आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को शामिल किया गया है।

      मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ प्रभाकर तिवारी के अनुसार 10 जून से प्रारंभ किए गए दस्तक अभियान में 308 बच्चों को विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी जटिजलताओं, बीमारियों के चलते उपचार के लिए ग्राम स्तर से उच्च स्वास्थ्य संस्थाओं में रेफर किया गया है। जिसमें सेप्सिस वाले 15 बच्चे, गंभीर निर्जलीकरण के 82, गंभीर एनीमिया के 142, चिकित्सकीय जटिलायुक्त गंभीर कुपोषित संबंधी 40 एवं जन्मजात विकृति वाले 9 बच्चों को जरूरी उपचार के लिए रेफर किया गया है। दस्तक अभियान के अंतर्गत आष्टा ब्लाक के भंवरा ग्राम से 10 माह की बच्ची आरोही को चिकित्सकीय जटिलता एवं गंभीर कुपोषण के कारण जिला चिकित्सालय स्थित मातृ-शिशु स्वास्थ्य संस्थान के एन.आर.सी.में रेफर किया गया। आरोपी की मां रामविद्या तथा पिता श्री अंकुर कुमार ने उपचार के दौरान बताया कि उनकी बच्ची को दस्तक दल ने गंभीर कुपोषण के कारण उपचार के लिए चिन्हित कर एन.आर.सी.में भर्ती कराया है। उन्होंने बताया कि दस्तक दल ने घर पहुंचकर बच्ची का परीक्षण किया और उपचार के लिए रेफर किया है। आष्टा के ही वार्ड क्रमांक 12 निवासी श्री मनीष कुमार के पुत्र गौरिक (11 माह) को गंभीर एनीमिया के कारण उपचार के लिए ब्लड ट्रांसफ्यूजन के लिए जिला चिकित्सालय में रेफर किया गया है। गौरिक को भी दस्तक दल द्वारा उपचार के लिए चिन्हित कर रेफर किया गया है। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत जिला शीघ्र हस्तक्षेप केन्द्र में गंावों से रेफर हुए बच्चों को पंजीकृत कर उन

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!