Take a fresh look at your lifestyle.

सीहोर : हत्या के आरोपी को न्यायालय ने सुनाई आजीवन कारावास और 5000 रु अर्थदंड की सजा।

0 1

प्रकरण की फरियादिया जो कि भोलेनाथ मंदिर के पास इन्द्रा नगर बाईपास, इन्द्रा नगर टप्पर, सीहोर में निवासरत् है ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि, नारायण भील जो कि ड्रायवरी का काम करता तथा फरियादी के घर के बगल में ही रहता है तथा अक्सर अपने ट्रक को लेकर बाहर ही रहता है। नारायण फरियादी के पोते धर्मेन्द्र को लेकर इस बात का शक करता है कि, उसकी पत्नी के साथ उसके गलत संबंध है और इसी बात को लेकर नारायण फरियादी के पोते धर्मेन्द्र एवं बहू (मृतिका) के साथ झगड़ा व गाली गलौच करता रहता था। घटना के डेढ़ साल पहले भी नारायण भील द्वारा फरियादी के पोते धर्मेन्द्र को छूरा मारा था और अक्सर फरियादी के पोते धर्मेन्द्र एवं बहू (मृतिका) को मारने की धमकी देता था।
घटना दिनांक 22/05/2018 को करीबन 11ः45 मिनिट के दौरान जब धर्मेन्द्र काम पर गया था और फरियादिया और उसकी बहू (मृतिका) खाना खाकर घर के बाहर आंगन में खाट पर लेटे थे तभी नारायण अपने हाथ में एक कत्ता लेकर आया और बिना कुछ कहे ही खाट में लेटी हुई फरियादिया की बहू (मृतिका) के गले में दो-तीन बार जोर-जोर से मारा उक्त घटना को देखकर फरियादिया डर के मारे चुप रही और आरोपी नारायण भील के चले जाने पर उठकर देखा तो फरियादी की बहू (मृतिका) के गले से काफी खून बह रहा था। फरियादिया ने पास में ही रहने वाले राजू नामदेव एवं अन्नू यादव को उक्त घटना बतायी जिसके उपरांत पुलिस भी आ गयी तब तक फरियादिया की बहू (मृतिका) मर चुकी थी। नारायण ने पुरानी रंजिश को लेकर फरियादिया की बहू (मृतिका) के गले में कत्ता से मारकर हत्या कर थी। प्रकरण में अपराध पंजीबद्ध कर संपूर्ण विवेचना उपरांत अभियोग पत्र माननीय न्यायालय में प्रस्तुत किया गया।
माननीय जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री राज्यवर्धन गुप्ता, जिला-सीहोर (म.प्र.) द्वारा प्रकरण की गंभीरता एवं अभियोजन की सशक्त पैरवी व अभियोजन की ओर से प्रस्तुत साक्षियों की साक्ष्य का सूक्ष्मता से परीशीलन एवं तर्को से सहमत होकर दिनांक 01/10/2019 को निर्णय पारित करते हुए आरोपी नारायण भील आत्मज हरिप्रसाद भील आयु 40 वर्ष निवासी इन्द्रानगर टप्पर बायपास के पास सीहोर को दोषसिद्ध करते हुए धारा 302 भादवि में आजीवन कारावास एवं 5000/-रूपये अर्थदण्ड से दण्डित किया।
        शासन की ओर से पैरवी सुश्री निर्मला सिंह चौधरी, जिला अभियोजन अधिकारी, सीहोर (म.प्र.) द्वारा की गई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!