Take a fresh look at your lifestyle.

सीहोर : सामाजिक न्याय विभाग प्रमुख सचिव एवं आयुक्त ने ली समग्र सुरक्षा विस्तार अधिकारियों की बैठक

0 9

सामाजिक न्याय विभाग प्रमुख सचिव एवं आयुक्त ने ली समग्र सुरक्षा विस्तार अधिकारियों की बैठक

सीहोर 26 जून,2020

            प्रमुख सचिव सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग मध्यप्रदेश शासन श्री प्रतीक हजेला एवं आयुक्त श्रीमती रेनु तिवारी द्वारा शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में समग्र सुरक्षा विस्तार अधिकारियों की बैठक ली गई। बैठक में प्रमुख सचिव श्री हजेला ने कहा कि सभी अपने-अपने कार्यों को अच्छे से करें। हमारा कार्य है कि वृद्ध लोगों की आवाज बने एवं विधवा महिलाओं को कल्याणी योजना के द्वारा पूरा लाभ दिला सकें। दृष्टि बाधिता एवं दिव्यांगों को आगे बढ़ाना ही हमारी पहली प्राथमिकता है।

     इसी प्रकार आयुक्त श्रीमती तिवारी ने कहा कि हम सभी को जिम्मादारी से कार्य करना चाहिए, दिव्यांगों की पूरी जानकारी होनी चाहिए। दिव्यांगों के प्रति नकारात्मक भाव नहीं होना चाहिए। दिव्यांगों का मनोबल बड़ाते हुए उन्हें हमेशा अग्रसर करते रहना जरुरी है जिससे कि वह अपने को किसी भी प्रकार से कमजोर नहीं समझें। उन्होंने कहा कि समाज को जागरुक करें, उन्हें समझाएं कि भिक्षावृत्ति को बढ़ावा न दें।बैठक में उपस्थितजनों से कहा कि आप अपने आपको अधिकारी न समझें, हम सभी शासकीय कर्मचारी पब्लिक सर्वेंट हैं। सरकार हमें भरण-पोषण के लिए वेतन देती है हम सौभाग्यशाली है कि हमें दिव्यांगजनों की सेवा करने का कार्य मिला है। पूरी ईमानदारी से हम अपने कार्यों का निर्वहन करें।

     बैठक से पूर्व श्रीमती तिवारी एवं श्री हजेला ने कलेक्टर श्री अजय गुप्ता से भी मुलाकात की एवं दिव्यांगजनों के लिए सीहोर में सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की। बैठक के बाद अधिकारी द्वय ने पुराना जिला पंचायत भवन में स्थित राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य पुनर्वास संस्थान में संस्थान से सम्बंधित उद्देश्य के विषय में श्रीमति प्रगति पाण्डेय सहायक प्राध्यापिका से चर्चा की गई जिसमें संस्थान से सम्बन्धित पाठ्यक्रमों के बारे में जानकारी ली गई। जिसमें देखभालकर्ता प्रमाणपत्र पाठ्यक्रम (CCCG) के बारे में बताया गया और दो नये लागू होने वाले पाठ्यक्रमों (DCBR & DVR (ID)) पर चर्चा की गई, साथ ही प्रमुख सचिव सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण विभाग के सुझाव को प्रस्तुत किया जिसके अनुसार आउटसोर्स एजेंसी के माध्यम से दिव्यांगजनों की देखभाल के लिए भरोसेमंद देखभालकर्ताओं की व्यवस्था की जाना चाहिए। राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य पुनर्वास संस्थान के नवीन स्थायी भवन निर्माण कार्य के लिए CPWD के इंजीनियर से चर्चा हुई जिसमें भवन निर्माण के नक्शे एवं स्थायी साइड के कार्य की समीक्षा की गयी एवं निर्माण कार्य में तेजी लाने के निर्देश भी दिए। अंत में संस्थान प्रागंण में वृक्षारोपाण किया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!