Take a fresh look at your lifestyle.

सीहोर : जिले में चिकित्सकों की कमी को कलेक्टर ने लिया गंभीरता से।

0 2

जिले में चिकित्सकों की कमी को कलेक्टर ले रहे गंभीरता से

समय सीमा बैठक में दिये आवश्यक निर्देश 

सीहोर 19 अगस्त,2019

     जिला चिकित्सालय में कुछ दिन पूर्व पदस्थ किये गये सर्जन डॉ फजल अंसारी एवं रेडियोलॉजिस्ट श्रीमती नीलम राठौर तथा सिविल अस्प्ताल नसरुल्लागंज में पदस्थ डॉ पुष्पेन्द्र तोमर को पदस्थ किया गया था। सीहोर जिला चिकित्सायल के डॉ फैजल अंसारी एवं डॉ नीलम राठौर अपनी उपस्थिति प्रस्तुत करने के उपरांत अनाधिकृत रूप से गायब हैं। सिविल अस्प्ताल नसरुल्लागंज के डॉ पुष्पेन्द्र तोमर ने अभी तक अपनी उपस्थिति प्रस्तुत नहीं की है।   

     जिला चिकित्सालय सीहोर एवं सिविल अस्प्ताल नसरुल्लागंज में पूर्व से ही चिकित्सकों की कमी है एवं उक्त डिग्री/डिप्लोमा उत्तीर्ण् चिकित्सकों द्वारा अनुपस्थित होने के कारण स्वास्थ्य सेवाएं बाधित हो रही हैं एवं क्षेत्र के जनसामान्य को सर्जरी, सोनोग्राफी, ऐनीस्थिसिया जैसे स्वास्थ्य सेवाओं का उचित लाभ प्राप्त नहीं हो रहा है। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने नाराजगी व्यक्त करते हुए तीनों चिकित्सकों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही करने के लिए स्वास्थ्य विभाग के आयुक्त को प्रस्ताव भेजा है।

     समय सीमा बैठक में कलेक्टर ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को सीएम हेल्प लाईन पर जननी सुरक्षा से संबंधित प्रकरणों का शीघ्र निराकरण करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार समाधान ऑनलाईन पर प्राप्त शिकायतों को सभी विभाग प्रमुखों को 7 से 8 दिनों में निराकृत करने के लिए कहा। उन्होंने यह भी कहा कि राजस्व विभाग भी सीएम हेल्प लाईन के प्रकरण शीघ्र निराकृत करें।

     कलेक्टर ने नसरुल्लागंज के अनुविभागीय अधिकारी को कहा कि ग्रामीण-विकास से संबंधित कार्यों की समीक्षा करें एवं अपने क्षेत्र के नामांतरण-बंटवारे के प्रकरण भी देखें। उप संचालक कृषि विभाग को कलेक्टर ने अमानक कीटनाशक/खरपतवार नाशक बेचने वालों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिए। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अरुण विश्वकर्मा, अपर कलेक्टर श्री विनोद कुमार चतुर्वेदी सहित समस्त विभाग प्रमुख उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!