Take a fresh look at your lifestyle.

सीहोर/आष्टा : श्वेतांबर जैन समाज का सराहनीय निर्णय ,पर्यूषण पर्व में नहीं होंगे सामूहिक आयोजन जूम ऐप के माध्यम से होगा जन्म वाचन एवं क्षमापना पर्व ।

0 30

पर्यूषण पर्व में नहीं होंगे सामूहिक आयोजन जूम ऐप के माध्यम से होगा जन्म वाचन एवं क्षमापना पर्व ।

श्वेतांबर जैन समाज के पर्यूषण पर्व 15 अगस्त से प्रारंभ होने जा रहे हैं धार्मिक दृष्टि से पर्यूषण पर्व को महापर्व कहा जाता है इस दौरान समाज के महिला पुरुष एवं बच्चे उत्साह उमंग के साथ धर्म आराधना करते हुए प्रभु की भक्ति में लीन रहते हैं विभिन्न आयोजन एवं प्रतियोगिताएं आयोजित की जाती है । कोरोना महामारी के समय में श्वेतांबर जैन श्री संघ द्वारा पर्युषण पर्व को नए रूप एवं नई टेक्नोलॉजी के साथ मनाने का निर्णय लिया है ,इस संबंध में जानकारी देते हुए श्वेतांबर जैन श्री संघ के अध्यक्ष पारसमल सिंघवी ने बताया कि पर्यूषण पर्व के दौरान धर्म स्थलों पर कोई भी सामूहिक आयोजन नहीं किया जाएगा दर्शन एवं पूजन में पर्याप्त डिस्टेसिंग का पालन किया जाएगा, एक साथ लोग एकत्रित न हो इसलिए मंदिरों को अधिक समय के लिए खोला जाएगा विभिन्न धार्मिक गतिविधियां, महा पूजन प्रतिक्रमण , पौषध के आयोजन मंदिर में नहीं किए जाएंगे लोगों को प्रतिक्रमण कराने हेतु छोटे-छोटे समूह बनाने की व्यवस्था की जा रही है , जिससे लोग धर्म आराधना से वंचित न रहे । सामूहिक आयोजन पर प्रतिबन्ध होने के कारण वीर प्रभु का जन्म वाचन से समाज जन वंचित न रहे इस हेतु समाज के नव नियुक्त महासचिव अभिषेक सुराणा जूम एप के माध्यम से जन्म वाचन की तैयारी कर रहे है १४ सपना जी बोली भी ऑनलाइन ही होगी उसके पश्चात प्रभु का जनम वाचन होगा , इस आयोजन में सभी लोगो अपने अपने घरो से वर्चुअल तरीके से जुड़ सकेंगे । क्षमापना पर्व का आयोजन भी जूम एप पर ही किया जायेगा वर्चुअल जनम एवं क्षमापना में समाज के अधिक से अधिक लोगो को जोड़ने के प्रयास किये जा रहे है ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!