Take a fresh look at your lifestyle.

सीहोर/आष्टा: पुलिस को मिली बड़ी सफलता, नकली नोट बनाने वाले गिरोह के 5 सदस्य हिरासत में,कंप्यूटर,हार्डडिस्क, प्रिंटर, और अन्य सामग्री जप्त।

0 9

आष्टा मे नकली नोट सप्लायर(आरोपीयो) को किया गिरफ्तार
-00000-
दिनांक 01.07.20 को फरियादी धर्मेन्द्र पिता चम्पालाल वर्मा निवासी हर्राजखेङी थाना आष्टा जिला सीहोर द्वारा थाना आष्टा में उपस्थित आकर बताया गया कि उसने चार साल पहले गाँव लसूङिया पार के सुरेन्द्र सैंधव को अंकसूची पर लोन करवाने के लिए 8000 रु. नगदी एवं 10वीं व 12वीं की अंकसूचियाँ दी थी। सुरेन्द्र ने 10 दिन में लोन दिलवाने की बात कही थी। जो लोन नही मिलने के बाद से वह सुरेन्द्र से अपने 8000 रु. माँग रहा था परन्तु सुरेन्द्र रुपये देने में आना-कानी कर रहा था। बार-बार माँग करने पर दिनांक 30.06.20 को आरोपी सुरेन्द्र सैंधव ने फरियादी धर्मेन्द्र वर्मा को कहा कि वह आज शाम को पैसे दे देगा। दिनाँक 30.06.20 को शाम करीब 4.30 बजे सुरेन्द्र सैंधव ने उसके साथी राहुल पिता हिन्दूसिंह राजपूत निवासी लंगापुरा के माध्यम से 50-50 रु. के कुल 100 नोट की एक गड्डी 5000 रु. उसको दिये थे। उक्त रुपयों को लेकर जब वह मार्केट में सामान लेने गया तो दुकानदार ने नकली होना बताया। तब उसे यह पता चला कि आरोपी सुरेन्द्र एवं राहुल द्वारा उसे 5000 रु. के नकली नोट थमा दिये गये है। उक्त घटना की जानकारी फरियादी द्वारा थाने पर दिये जाने पर दिनांक 01.07.20 को अप.क्र. 435/20 धारा 489ए,बी भादवि. कायम कर विवेचना में लिया गया। घटना की जानकारी वरिष्ट अधिकारियों को दी गई।

जो घटना की जानकारी मिलने पर श्रीमान पुलिस अधीक्षक सीहोर श्री एस.एस.चौहान एवं श्रीमान अति.पुअ सीहोर श्री समीर यादव ने मामले की गंभीरता को देखते हुये तत्काल एसडीओपी आष्टा श्री मोहन सारवान एवं थाना प्रभारी आष्टा सिध्दार्थ प्रियदर्शन को तत्काल मामले का पर्दाफाश करने हेतु निर्देशित किया गया। थाना आष्टा पुलिस निरिक्षक सिध्दार्थ प्रियदर्शन , उनि. रामबाबू राठौर, पीएसआई. निकितासिह, सउनि. शिवलालवर्मा, प्रआर. 453 आत्माराम, प्रआर. 362 हुल्लास, प्रआर. 586 चन्द्रशेखर, आर. 732 दिनेश, आर. 368 धीरज, आर. 823 चेतन के द्वारा वरिष्ठ अधिकारीयो को मार्गदर्शन अनुसार सर्व प्रथम आरोपी राहुल पिता हिन्दुसिह राजपूत के घर नि. लंगापुरा आष्टा दबिश दी जाकर दिनांक 02.07.20 को गिरफ्तार कर पूछताछ की गई तो उसने उक्त 5000रु. नकली रूपये आरोपी सुरेन्द्र सैंधव नि. लसुडिया पार के द्वारा फरियादी के पास भिजवाये जाना बताया तथा स्वयं के पास भी 50-50 रु. के 4 नकली नोट रखे होना बताये जो आरोपी राहुल से जप्त किये गये तथा आरोपी को गिरफ्तार किया गया। बाद मामले के मुख्य आरोपी सुरेन्द्र सैंधव को लसूङिया पार से गिरफ्तार कर घटना के संबंध में पूछताछ की गई तो उसने उक्त नकली नोट कजलास के पंकज बामनिया के माध्यम से देवास के हितेन्द्र उर्फ बबलू गुर्जर से लेना तथा राहुल व राजेन्द्र सैंधव के माध्यम से मार्केट में सप्लाय करना एवं 50-50 रु. के 100 नोट कुल 5000 रु. नकली नोट राहुल के माध्यम से फरियादी को देना बताया तथा स्वयं के घर से 50-50 रु. के 140 नोट कुल 7000 रु. नकली बरामद कराए।

बाद आरोपी सुरेन्द्र के साथी राजेन्द्र पिता चैनसिंह निवासी लसूङिया पार को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से 50-50 के 4 नोट कुल 200 रु. नकली जप्त किये गये। आरोपी सुरेन्द्र द्वारा उक्त नकली नोट कजलास निवासी पंकज बामनिया के माध्यम से प्राप्त किये जाना बताया गया था अतः ग्राम कजलास पहुचकर आरोपी पंकज पिता गोवर्धनलाल बामनिया को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से 50-50 रु. के 12 नोट कुल 600 रु. नकली नोट जप्त किये गये। आरोपी पंकज ने बताया कि उसकी दोस्ती विगत दो साल से कुलजा बिहार कालोनी देवास के बबलू उर्फ हितेन्द्र पिता मानसिंह गुर्जर से है जो पूर्व में साथ में आइसर कंपनी में काम करता था। बबलू अपने सिस्टम से नकली नोट कलर प्रिंटर के माध्यम से निकालते थे जो पंकज सप्लाय करता था। कम कीमत के नोट इसलिए छापे जा रहे थे ताकि बाजार में छोटे नोटों को आसानी से चलाए जा सके। पंकज कंप्यूटर के बारे में अच्छी जानकारी है जो कंप्यूटर का एक्सपर्ट है। नकली नोटो का कारोवार पिछले दो माह से ही प्रारंभ किया था। उक्त जानकारी के आधार पर मामले के मुख्य आरोपी बबलू उर्फ हितेन्द्र पिता मानसिंह निवासी देवास को उसके घर से गिरफ्तार कर नकली करंसी छापने हेतु उपयोग किये जाने वाले कंप्यूटर सिस्टम मोनीटर -1, सीपीयू -1, प्रिंटर -1, ब्लेंक कागज एवं अन्य सामग्री एवं 50-50रु. के 4 नोट जप्त किये गये है। आरोपी को गिरफ्तार किया गया है इस प्रकार मामले में शामिल कुल 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है जिनसे ओर भी पूछताछ की जा रही है जिन्हे कल माननीय न्यायालय में पेश किया जावेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!