Take a fresh look at your lifestyle.

सीहोर / आष्टा : ढाकनी मुगली रोड पर स्थित फर्जी अस्पताल पर स्वास्थ्य विभाग और राजस्व की टीम की छापामार कार्रवाई।

0 0

आष्टा ढाकनी मुगली रोड पर स्थित फर्जी अस्पताल पर स्वास्थ्य विभाग और राजस्व की टीम की छापामार कार्रवाई

फर्जी रूप से चलाए जा रहे हैं अस्पताल में 15 बिस्तर सहित बड़ी मात्रा में एलोपैथिक दवाइयां बोतल और इंजेक्शन टीम ने किए जप्त

स्वास्थ विभाग की कार्रवाई से झोलाछाप डॉक्टरों में हड़कंप

नगर में 300 से अधिक झोलाछाप डॉक्टर मरीजों की जान से खिलवाड़ करते हुए देखे जा सकते हैं किंतु स्वास्थ्य विभाग के लचर रवैया के कारण बेखौफ होकर वह अपने क्लीनिक की दुकानदारी चलाते आ रहे हैं अब तक तो झोलाछाप डॉक्टर केवल क्लीनिक ही चलाया करते थे किंतु आज जिस प्रकार से सक्रियता दिखाते हुए स्वास्थ्य विभाग की टीम ने और राजस्व की टीम ने एक झोलाछाप डॉक्टर के फर्जी अस्पताल को सील कर कार्यवाही किए यह कार्रवाई साफ तौर पर यह बताती है कि किस प्रकार से गैर डिग्री धारी डॉ बेखौफ होकर इसे अंजाम देते हैं

प्राप्त जानकारी के अनुसार नगर के ढकनी मुगली रोड पर प्राप्त शिकायत के आधार पर एक फर्जी अस्पताल को स्वास्थ्य विभाग और राजस्व की टीम द्वारा सील किया गया अतिरिक्त तहसीलदार श्रीमती अंकिता बाजपेई ने जानकारी देते हुए बताया की  डॉक्टर विजय कुमार जैन द्वारा यहां पर मरीजों का अवैधानिक तरीके से इलाज किया जाता था बॉटल इंजेक्शन लगाए जाते थे और साथ ही भर्ती भी किया जाता था इस अस्पताल से कुल 15 बिस्तर मिले हैं बड़ी संख्या में बोतल इंजेक्शन और दवाइयां जो की एलोपैथिक पद्धति में आती है बरामद की गई है क्योंकि डॉ अन्य पद्धति के थे अतः अस्पताल को सील कर वैधानिक कार्यवाही की जाएगी, ।

सीहोर जिले के आष्टा में ढाकनी मुगली रोड पर स्थित फर्जी अस्पताल पर स्वास्थ्य विभाग और राजस्व की टीम ने मारा छापा की गई कार्रवाई।

फर्जी रूप से चलाए जा रहे हैं अस्पताल में 15 बिस्तर सहित बड़ी मात्रा में एलोपैथिक दवाइयां बोतल और इंजेक्शन टीम ने किए जप्त

स्वास्थ विभाग की कार्रवाई से झोलाछाप डॉक्टरों में हड़कंप
नगर में 300 से अधिक झोलाछाप डॉक्टर मरीजों की जान से खिलवाड़ करते हुए देखे जा सकते हैं किंतु स्वास्थ्य विभाग के लचर रवैया के कारण बेखौफ होकर वह अपने क्लीनिक की दुकानदारी चलाते कोरोना काल मे भी इसी तरह के ईलाज किए जा रहे हैं ।अब तक तो झोलाछाप डॉक्टर केवल क्लीनिक ही चलाया करते थे किंतु आज जिस प्रकार से सक्रियता दिखाते हुए स्वास्थ्य विभाग की टीम ने और राजस्व की टीम ने एक  डॉक्टर के फर्जी अस्पताल को सील कर कार्यवाही कि यह कार्रवाई साफ तौर पर यह बताती है कि किस प्रकार से गैर डिग्री धारी डॉ बेखौफ होकर इसे अंजाम देते हैं ।जिस प्रकार से उक्त अस्पताल पर कार्यवाही की गई है क्या क्षेत्र में बड़ी तादाद में नर्सिंगहोम जैसे लकझरी अस्पताल चलाए जा रहे है उनपर भी कोई कार्यवाही होगी।
जिस प्रकार नगर के ढांकनी मुगली रोड पर प्राप्त शिकायत के आधार पर एक फर्जी अस्पताल को स्वास्थ्य विभाग और राजस्व की टीम द्वारा सील किया गया है।
अतिरिक्त तहसीलदार श्रीमती अंकिता बाजपेई ने जानकारी देते हुए बताया की  डॉक्टर विजय कुमार जैन द्वारा यहां पर मरीजों का अवैधानिक तरीके से इलाज किया जाता था बॉटल इंजेक्शन लगाए जाते थे और साथ ही भर्ती भी किया जाता था इस अस्पताल से कुल 15 बिस्तर मिले हैं बड़ी संख्या में बोतल इंजेक्शन और दवाइयां जो की एलोपैथिक पद्धति में आती है बरामद की गई है क्योंकि सील कर वैधानिक कार्यवाही की जावेगी।

अंकिता बाजपाई अतिरिक्त तहसीलदार का कहना है कि अनुविभागीय अधिकारी के निर्देशन में डॉक्टरों की टीम के साथ कार्यवाही की गई है जाँच के बाद जो अनियमितताएं सामने आएगी सीएमएचओ अगली कार्यवाही करेंगे।

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!