Take a fresh look at your lifestyle.

सीहोर/आष्टा : कर्ज माफी राशि वितरण में भ्रष्टाचार का आरोप  प्रबंधक को बर्खास्त कर किसानों ने की सख्त कार्रवाहीं की मांग   किसानों ने अपर कलेक्टर को दिया शिकायती पत्र

0 12

कर्ज माफी राशि वितरण सूची ने खोली
सेवा सहकारी समिति दुपाडिय़ा की पोल
सैकड़ों किसानों को दी आधी अधूरी राशि

कर्ज माफी राशि वितरण में भ्रष्टाचार का आरोप
प्रबंधक को बर्खास्त कर किसानों ने की सख्त कार्रवाहीं की मांग

किसानों ने अपर कलेक्टर को दिया शिकायती पत्र

सीहोर। पूर्व कांग्रेस सरकार ने कर्ज माफ किया लेकिन दुपाडिय़ा सेवा सहकारी समिति ने किसानों को कर्ज माफी का पूरा लाभ नहीं दिया। शाखा से जुड़े ग्राम दुपाडिय़ा चाचाखेड़ी,चुपाडिय़ा,छापरी,मालीखेड़ी,केयूखेड़ी के सैकड़ों किसानों के खातों में आधी अधूरी राशि का भुगतान किया। प्रबंधक और कर्मचािरयों के कारनामें का पता किसानों को कर्ज माफी राशि वितरण सूची के सामने आने के बाद लगा।
कलेक्ट्रेट पहुंचकर छ: गांवों के सैकड़ों आक्रोशित किसानों ने सोमवार को अपर कलेक्टर गुंचा सनोबर को कलेक्टर के नाम शिकायती पत्र दिया। किसानों ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कर्ज माफ किया था जिस  की राशि सेवा सहकारी समिति दुपाडिय़ा में पहुंची लेकिन खातेदार बकायादार  किसानों को काफी कम राशि दी गई। दुपाडिय़ा शाख जिला सहकारी कैन्दीय बैंक हकिमाबाद आष्टा के तहत आती है।
सेवा सहकारी समिति प्रबंधन ने जिन किसानों के सूची में कर्ज माफी के लिए नाम  आए थे उनको भी काली सूची में डाल दिया। किसी परिवार में दो खाते थे तो एक का कर्ज माफ  किया दूसरे का नहीं किया गया। दुपाडिया सेवा सहकारी समिति में पदस्थ कर्मचारी अपनी मन मानी करते है और शासन कि किसान हितैशी योजनाओं से किसानों को जानबूझकर वंचित रखते है। किसानों का कहना था कि जिला सहकारी कैन्दीय बैंक शाखा हकिमाबाद के कर्मचारी भी इस लाखों रूपये के गबन में शामिल है।
सेवा सहकारी समिति के खातेदार किसान तेज सिंह मेवाड़ा, कमल सिंह, मनोहर, मांगीलाल,ज्ञान सिंह,पंचाल सिंह, रघुनाथ सिंह, हरि सिंह,  दिनेश मेवाड़ा,बलवान सिंह, कैलाश सिंह, मनोज, देवनारायण,राम प्रसाद, हरनाथ  सिंह, रमेश सिंह,  शिव  चरण, राहुल मेवाड़ा, संतोष  सिंह, विजय  सिंह, इंदर सिंह, पवन  राजपूत,बंशीलाल,ठाकुर सिंह आदि ने मामले की निष्पक्ष जांच कराने किसानों  के खातों में कर्ज माफी की बकाया राशि भेजने और सेवा  सहकारी प्रबंधक   सहित अन्य लापरवाह कर्मचारियों पर सख्त कार्रवाहीं करने की मांग की है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!