Take a fresh look at your lifestyle.

“सावधान”आष्टा : अगर पार्वती और पपनास का जलस्तर बढ़ा तो पानी की जद में आ सकते हैं कई गांव।

0 4

आष्टा अगर पार्वती पटना का जलस्तर बढ़ा तो पानी की जद में आ सकते हैं कई गांव

आष्टा तहसील दोनों और से नदियों से घिरी हुई है वह पिछले 18 घंटों से लगातार मूसलाधार बारिश हो रही है अगर बारिश की रफ्तार इसी प्रकार रहती है तो आष्टा तहसील के कई गांव इन नदियों के तेज बहाव का शिकार हो सकते हैं हालांकि अब  तक इन गांवों में केवल जलभराव की स्थिति निर्मित होती रही है किंतु नदियों के किनारों पर होने की वजह से यह गांव हमेशा खतरे में होते हैं वह किसी भी वक्त अतिवृष्टि के कारण पानी की जद में आ सकते हैं।

अगर हम पपनास नदी की बात करें तो देवली, छापर , किल्लोद , हराजखेड़ी, मगरखेड़ी , बामनखेड़ी , भौरासा दोनिया , अमीपुर ,अरनिया राम, अरनिया दाऊद , चनखल जगन्नाथ पूरा और गुवाड़िया जैसे गांव नदी के पानी की चपेट में आ सकते हैं

वहीं दूसरी और बात करें तो पार्वती नदी के किनारे पर आने वाले गांव में रामपुरा, सिद्दीकगंज, नारपाखेड़ी ,देहमत,जसमत, दुदापुरा ,देवनखेड़ी , संगाखेड़ी ,पटाडा, बड़लिया पार ,कन्नौद मिर्जी, नीलबड़,खजुरिया कासम , लसूड़िया,आरोलिया, परोलिया, ताजपुरा , लंगापुर, चाचरसी,भादरपुरा मिरपुरा,पुराना बस स्टैंड आष्टा, पीली खदान , पखनी, कचनारिया, दुपड़िया,चुपड़िया , बमुलिया,शिवखेड़ी , बोरखेड़ा,मैनाखेड़ी और कुड़ी खेड़ी आदि गांव पानी की चपेट में आ सकते है।

सीहोर न्यूज़ दर्पण का उन सभी ग्रामों के नागरिकों से विनम्र अनुरोध है जो भी नदी के किनारे पर निवास करते हैं वह सुरक्षित स्थान पर चले जाएं ताकि किसी भी प्रकार की अनहोनी से बचा जा सके प्रशासन का सहयोग करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!