Take a fresh look at your lifestyle.

पुलवामा आतंकी हमले के बाद आक्रोशित मोदी सरकार ने तोड़ दिया सिन्धु जल समझौता,, बूंद-बूंद पानी के लिए तरसेगा पाकिस्तान

0 1

पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान को चौतरफा घेर रही आक्रोशित मोदी सरकार ने अब पाकिस्तान को पूरी तरह से सबक सिखाने की ठान ली है. इस हमले के बाद एकतरफ दुनिया के शक्तिशाली मुल्क पाकिस्तान के खिलाफ तथा हिंदुस्तान के पक्ष में लामबंद हो रही हैं तो वहीं दूसरी तरफ मोदी सरकार पाकिस्तान के खिलाफ एक के बाद एक कड़े कदम उठाती जा रही है. मोदी सरकार ने आतंकी मुल्क पाकिस्तान तथा उसके मुखिया इमरान खान के होश उड़ाने वाला फैसला लेते हुए “सिन्धु जल समझौते को तोड़ दिया है. अब भारत की तीन नदियों का पानी अब पाकिस्तान को नहीं दिया जाएगा बल्कि रोक कर उसे यमुना में मिलाया जाएगा. केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी के ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी.

केंद्रीय मंत्री गडकरी ने ट्वीट में लिखा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली हमारी सरकार ने फैसला लिया है भारत से पाकिस्तान जाने वाली नदियों में हमारे हिस्से के पानी का बहाव रोका जाएगा। हम धारा मोड़ कर इसे पूर्वी नदियों में मिलाएंगे और उसे हम अपने जम्मू कश्मीर व पंजाब के लोगों तक पहुंचाएंगे. एक और ट्वीट में गडकरी ने कहा कि शाहपुर-कांडी में रावी नदी पर बांध निर्माण का कार्य शुरू हो चुका है। उन्होंने कहा कि उझ नदी का प्रोजेक्ट हमारे हिस्से के पानी को जम्मू कश्मीर में प्रयोग के लिए स्टोर करेगा। उन्होंने कहा कि इन सभी प्रोजेक्ट्स को राष्ट्रीय प्रोजेक्ट घोषित कर दिया गया है.

THE CONSTRUCTION OF DAM HAS STARTED AT SHAHPUR- KANDI ON RAVI RIVER. MOREOVER, UJH PROJECT WILL STORE OUR SHARE OF WATER FOR USE IN J&K AND THE BALANCE WATER WILL FLOW FROM 2ND RAVI-BEAS LINK TO PROVIDE WATER TO OTHER BASIN STATES.

— NITIN GADKARI (@NITIN_GADKARI) FEBRUARY 21, 2019

गौरतलब है कि इससे पहले केन्द्रीय मंत्री गडकरी ने उत्तर प्रदेश के बागपत में एक रैली को संबोधित करते हुए कहा था कि भारत पाकिस्तान को दी जाने वाली तीन नदियों का पानी रोकेगा। भारत के इस कदम से पाकिस्तान बूंद-बूंद पानी के लिए तरसेगा. उन्होंने कहा, ‘तीन नदियों के अधिकार का पानी प्रोजेक्ट बनाकर पाकिस्तान की बजाय यमुना में छोड़ा जाएगा. उन्होंने कहा था कि हम बांध बनाकर पाकिस्तान को दिए जाने वाले पानी को रोकेंगे तथा इसे यमुना में प्रवाहित करेंगे. बता दें कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद आक्रोशित हिंदुस्तान की जनता मोदी सरकार से ये मांग कर रही थी कि भारत सिन्धु जल समझौते को तोड़े तथा पाकिस्तान को दिया जाने वाला पानी रोका जाए. अब मोदी सरकार ने राष्ट्र के आक्रोश पर मोहर लगाते हुए सिन्धु जल समझौते को तोड़ने का एलान कर दिया है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!