Take a fresh look at your lifestyle.

देवास: पानी की कमी और हीट स्ट्रोक से 100 से अधिक बंदरो की मौत , पुंजपुरा रेंज के मामला।

0 0

देवास के पुंजापुरा रेंज के कक्ष क्रमांक 540 में,

हिट स्ट्रोक से हुई 100

बंदरो की मौत ,

अनिल उपाध्याय
खातेगांव /देवास
देवास जिले के बागली वन मंण्डल के पास पुंजापुरा रेंज के कक्ष क्रमांक 540 में जोशी बाबा के जंगल में लू और भूख-प्यास के कारण करीब 100 बंदरो की मौत हो गयी है। पेड़ के नीचे, पत्थरों की खोह व खंती में मिले हैं।
घटनास्थल के आसपास के 3 किलोमीटर क्षेत्र के जंगल में वन प्राणियों के पीने के पानी की कोई व्यवस्था नहीं है! इतना ही नहीं किसी को घटना का पता नहीं चले इसलिए कुछ बंदरों के शव को जला भी दिया गया, इतने बंदरों के शव सिर्फ 500 मीटर के दायरे में मिले हैं ,वन विभाग ने मृत बंदरों की संख्या 9 बताइ हे, मीडिया टीम ने मौके पर जाकर देखा तो पाया कि मतृ बंदरो की संख्या करीब 100 थी! कई शव 1 सप्ताह से अधिक पुराने थे बंदरों की मौत की सूचना पर ग्रामीण मौके पर पहुंचे तो देखा कि जगह-जगह बंदरों के शव पड़े हैं! आसपास देखा तो बंदरों के कंकाल भी थे, वह कुछ बंदर के शव जले हुए भी दिखाई दिये थे, वन अमला मौके पर पहुंचा, पीएम करवा कर अंतिम संस्कार कर दिया गया है,पीएम करने वाले डॉक्टर के मुताबिक बंदरों की मौत हीट स्ट्रोक से हुई है!

जंगल में बकरी चराने गए

चरवाहेे ने दी जानकारी,

12 वर्षीय प्रदीप पिता रंधावा केसाराम रंधावा निवासी मानसिंह पुरा ने बताया कि वह अपनी बकरियों को चराने जंगल में गया था उसी दौरान उसने कई बंदरों को मरे हुए पड़े देखा इसके बाद ग्रामीणों को सूचना की,

बंदरों की हड्डियों को लेब भेजा जाएगा,

बंदरों का पीएम करने वाले पशु चिकित्सक विभाग के डॉ अरुण मिश्रा ने बताया कि अधिक गर्मी व हीटस्ट्रोक के कारण बंदरो की मौत हुई है !जिन बंदरो को जलाया गया उनकी हड्डियों को जांच के लिए लैब भेजा जाएगा!

जंगल की सर्चिंग की जाएगी

बागली वन एसडीओ आर आर परमार ने बताया कि उन्हें जानकारी स्टाफ द्वारा पहले ली जाती तो मैं तत्काल पानी की व्यवस्था करवा देता जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी जंगल की सर्चिंग कर वास्तविकता का पता लगाया जाएगा डीएफओ पीएन मिश्रा ने बताया कि 9 बंदरों की मौत हुई है गर्मी से बचाव के कारण आंखों में थे जहां अधिक गर्मी से मौत हुई है

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!