Take a fresh look at your lifestyle.

देवास/खातेगांव: डी. एम. की अध्यक्षता में खातेगांव विधानसभा क्षेत्र सेक्टर अधिकारियों की बैठक सम्पन्न

0 3

डी. एम. की अध्यक्षता में खातेगांव विधानसभा क्षेत्र सेक्टर अधिकारियों की बैठक सम्पन्न

सेक्टर क्षेत्र का भ्रमण करने, क्षेत्र में नई संवेदनशील परिस्थिति उत्पन्न होने की सूचना देने, आदर्श आचरण संहिता का पालन कड़ाई से सुनिश्चित कराने के निर्देश

मतदान के दिन से पूर्व की रात्रि में ईवीएम व रिजर्व मतदान दल के साथ सेक्टर अधिकारी किसी एक मतदान केंद्र पर रूकेंगे

किसी एक मतदान केंद्र पर मॉकपोल के समय उपस्थित रहेंगे तथा मॉकपोल होने का प्रमाण-पत्र देंगे

मतदान के दिन मत प्रतिशत एप्प के माध्यम से हर दो घंटे में मतदान की अपडेट जानकारी लेंगे


अनिल उपाध्याय
खातेगांव /देवास

देवास कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. श्रीकान्त पाण्डेय की अध्यक्षता में शनिवार को कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में खातेगांव विधानसभा क्षेत्र के सेक्टर अधिकारियों की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में उपजिला निर्वाचन अधिकारी राजेंद्र रघुवंशी, मास्टर ट्रेनर डॉ. एसपीएस राणा, डॉ. समीरा नईम तथा सेक्टर अधिकारीगण उपस्थित थे।
बैठक में कलेक्टर डॉ. पाण्डेय ने सेक्टर अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र का भ्रमण करने तथा सेक्टर अतंर्गत मतदान केंद्रों पर न्यूनतम बुनियादी आवश्यक सुविधाओं की उपलब्धता को चेक करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यदि कही कोई कमी है तो सहायक निर्वाचन अधिकारी के ध्यान में लाएंगे तथा सभी आवश्यक बुनियादी व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराएंगे। उन्होंने कहा कि मतदान के दिन शांतिपूर्ण व व्यवस्थित तरीके से मतदान सुनिश्चित कराने में सेक्टर अधिकारियों महत्वपूर्ण भूमिका होती है।
सेक्टर अधिकारी अपने सेक्टर क्षेत्र के सभी गांव, मजरा-टोलो का भ्रमण करेंगे तथा मतदाताओं से विशेष रूप से महिला, बुजुर्गों व दिव्यांग मतदाताओं से चर्चा करेंगे तथा मतदान करने हेतु प्रेरित करेंगे। यदि पूर्व भ्रमण के उपरांत वर्तमान भ्रमण में कोई नवीन संवेदनशील परिस्थिति उत्पन्न हुई तो उसकी सूचना सहायक निर्वाचन अधिकारियों को देंगे। अपने सेक्टर के वलनरेबल व क्रिटिकल मतदान केंद्र के मतदाताओं से विशेष रूप से चर्चा करेंगे तथा उन्हें मतदान के लिए प्रेरित करेंगे। सेक्टर अधिकारी भ्रमण के दौरान संपत्ति विरूपण को भी देखेंगे। यदि कहीं संपत्ति विरूपण अधिनियम का उल्लंघन कर संपत्ति का विरूपण पाया जाता है तो संपत्ति पर विरूपण को हटाने हेतु कार्यवाही सुनिश्चित कराएंगे। उन्होंिने कहा कि सेक्टर अधिकारी अपने क्षेत्र के एसएसटी, एफएसटी तथा वीएसटी दलों के संपर्क में रहेंगे तथा आदर्श आचरण संहिता का पालन सुनिश्चित कराएंगे।
कलेक्टर डॉ. पाण्डेय ने सभी सेक्टर अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे मतदान की पूर्व की रात्रि को अपने सेक्टर के किसी एक मतदान केंद्र पर रूकेंगे तथा उसे हैडक्वाटर बनाएंगे। सेक्टर अधिकारी के साथ रूकने के स्थल पर रिजर्व ईवीएम, गॉर्ड व रिजर्व दल भी रूकेगा। मास्टर ट्रेनर डॉ. एसपीएस राणा ने बताया कि सेक्टर अधिकारी यदि पुरूष है तो महिला प्रबंधकीय मतदान केंद्र पर नहीं रूकेंगे। सेक्टर अधिकारी मतदान के दिन मॉकपोल के समय किसी एक मतदान केंद्र पर उपस्थित रहेंगे तथा मॉकपोल होने का प्रमाण पत्र प्राप्त करेंगे। सेक्टर अधिकारियों को बताया गया कि वे यह देखें कि जिन मतदान केंद्रों पर वेबकॉस्टिंग हो रही है। उनमें कैमरा 7-8 फुट की ऊंचाई पर हो, आने वाले मतदाता कैमरे में दिखाई दे तथा मतदाता की पहचान सुनिश्चित हो। कैमरे में मतदाता अमिट स्याही लगाते समय दिखना चाहिए तथा उसका कोण इस प्रकार हो कि मतदान की गोपनीयता भंग न हो। मतदान केंद्र पर संकेतक लगाए जाये कि आप सीसीटीवी/वेब कैमरे की निगाह में हैं।
सेक्टर अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए गए कि मत प्रतिशत एप्प के माध्यम से हर दो घंटे के अंतराल पर महिला प्रतिशत, पुरूष प्रतिशत एवं कुल प्रतिशत की जानकारी देंगे। इसी तरह की जानकारी सुगम्यश पोर्टल पर भी देंगे। मतदान के दिन सेक्टर अधिकारी अपने सेक्टर के मतदान केंद्रों का कम से कम तीन बार भ्रमण करेंगे और अपने सेक्टर क्षेत्र में मतदान के दौरान कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए उत्तरदायी होंगे। अपने क्षेत्र के सेक्टर मोबाइल व कंट्रोल रूम के सतत सम्पर्क में रहेंगे। मतदान समाप्ति के उपरांत अपने सेक्टर के सभी मतदान केंद्रों की मतदान सामग्री मतदान दलों के साथ जीपीएस युक्त वाहन में पहुंचाएंगे तथा सामग्री प्राप्ति स्थल तक साथ में आएंगे। बैठक में सेक्टर अधिकारियों को ईवीएम मशीनों की हैंडऑन ट्रेनिंग भी दी गई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!