Take a fresh look at your lifestyle.

आष्टा/सिद्दीकगंज : बेटे का पक्ष लेना मां को महंगा पड़ा, पति ने सिर पर पत्थर से प्रहार कर की हत्या , पुलिस ने किया हत्या का प्रकरण कायम , पत्नी की हत्या कर पति हुआ फरार

0 35

बेटे का पक्ष लेना मां को महंगा पड़ा, पति ने सिर पर पत्थर से प्रहार कर की हत्या
मेरी पत्नी होकर पुत्र का पक्ष क्यों ले रही अस्पताल में मौत ,पुलिस ने किया हत्या का प्रकरण कायम , पत्नी की हत्या कर पति हुआ फरार


आष्टा। सिद्धिकगंज थाना अंतर्गत ग्राम पगारा निवासी व्यक्ति अपने साले के घर पर सुशील नगर में रहता था। दीपावली के दिन उसके पुत्र ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास सूची का जो पैसा आएगा उसमें से आधा पैसा मुझे दे दोगे तो मैं भी झोपड़ी बनाकर रह लूंगा ।पिता ने मना किया तो पुत्र की मां ने कहा बेटे को पैसा दे दोगे तो उसका भी घर बन जाएगा। यह बात पति को नागवार गुजरी और उसने कहा कि तू मेरी पत्नी होकर पुत्र का पक्ष ले रही है। समीप में रखे पत्थर से सिर पर प्रहार किया, जिसके कारण गंभीर रूप से घायल हो गई ।सिविल अस्पताल आष्टा ले जाया गया और वहां उसकी मौत हो गई ।पुलिस ने पहले 307 क का प्रकरण दर्ज किया था। मौत होने पर 302 हत्या का प्रकरण कायम किया। पत्नी पर घातक चोट करने के पश्चात पति हुआ फरार, जिसकी पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही है ।

सिद्धिकगंज थाना प्रभारी माधोसिंह कनेश ने बताया कि 14 नवंबर दीपावली के दिन सुबह 8 बजे के करीब पगारा निवासी सायसिंह बारेला पिता अनाजा निवासी पगारा हाल मुकाम सुशीलनगर अपने साले टीकाराम के यहां छोटे बच्चे के साथ रहता था ,14 नवंबर को सुबह सायसिंह बारेला का पुत्र कमलसिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री आवास के अंतर्गत जो रुपया आएगा उसमें से आधा मुझे दे देवे तो मैं अपनी झोपड़ी बनाकर रह लूंगा सायसिंह ने पैसा देने से मना किया कि मैं एक पैसा भी उसमें से नहीं दूंगा ।सायसिंह की पत्नी सूनिया बाई उम्र 45 वर्ष ने कहा कि बेटे को पैसा दे दोगे तो उसकी भी कुटीर बन जाएगी। तो साय सिंह ने कहा कि तुम मेरी पत्नी होकर बेटे का पक्ष ले रही हो, इसी बात को लेकर पति पत्नी के बीच में कहासुनी हो गई ।आरोपी सायसिंह ने पत्थर से घातक प्रहार अपनी पत्नी पर किया, जिसके कारण सूनिया बाई गंभीर रूप से घायल हो गई ,उसे सिविल अस्पताल भेजा गया, जहां उसकी मौत हो गई। उक्त घटना की सूचना मिलने के बाद जब पुलिस मौके पर पहुंची तो आरोपी साई सिंह बारेला फरार हो चुका था। जिसको काफी तलाशा गया नहीं मिला ।वहीं जब मजदूरी करने गया भाई टीकाराम को अपनी बहन सूनिया बाई की हत्या का पता चला तो वह घर आया और गमगीन माहौल में अंत्येष्टि की गई। पुलिस ने मृतिका के पुत्र कमल सिंह की रिपोर्ट पर आरोपी साई सिंह बारेला के विरुद्ध हत्या का प्रकरण दर्ज किया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!