Take a fresh look at your lifestyle.

आष्टा : भीख मांगकर सीएमओ के हवाले किए चिल्लर , तालाब गहरीकरण को लेकर निरंतर पसीना बहाने वाले भाजपा नेता को भूली भाजपा ,प्रेस विज्ञप्ति से कालू भट्ट का नाम गायब।

0 0

आष्टा भीख मांगकर सीएमओ के हवाले किए चिल्लर नपाध्यक्ष से खफा भाजपा के युवा नेताओं ने खोला मोर्चा

आष्टा में विगत कई दिनों से भाजपा के पूर्व पार्षद कालू भट्ट के नेतृत्व में खेड़ापति तालाब का गहरीकरण का कार्य करवाया जा रहा है कुछ समय के लिए नगर पालिका द्वारा जेसीबी और पोकलेन मशीन उपलब्ध कराई गई थी लेकिन दो-तीन दिन बाद ही उसे वहां से हटा ली गई जिसके बाद भाजपा नेता कालू भट्ट द्वारा अपने व्यय पर जन सहयोग से पोकलेन मशीन और जेसीबी बुलाई गई जिससे भाजपा नेताओं में नाराजगी रही आज आंदोलन करते हुए भाजपा नेताओं द्वारा संपूर्ण नगर में भ्रमण कर ₹2 की भीख मांगी गई और भीख से प्राप्त राशि को प्रदर्शन स्वरूप नगर पालिका सीएमओ को सौंपी गई और नगर पालिका सीएमओ को चेताया गया कि अब भी अगर नगर पालिका नहीं जागती है तो उग्र आंदोलन के लिए हम बाध्य है

प्रेस विज्ञप्ति – आष्टा (नि.प्र.) भारतीय जनता पार्टी आष्टा द्वारा कई वर्षो से आष्टा के दोनों तालाब कमल तालाब एवं काला तालाब तथा पार्वती नदी के गहरीकरण की मांग आष्टा नगरपालिका से की जा रही है। इसी क्रम में इस वर्ष धरना प्रदर्शन, भूख हड़ताल लगातार किया जा रहा था और नगर बंद का भी आव्हान किया था, जिसको लेकर प्रशासन ने यह ठोस आश्वासन दिया था कि, दोनों तालाबों का गहरीकरण और नदी का स्वच्छता एवं विकास कार्य किया जायेगा। इस ठोस आश्वासन के बाद भाजपा द्वारा अपने आंदोलन को स्थगित किया गया था। अनुविभागीय अधिकारी आष्टा राजेश शुक्ला जी ने अपने प्रयासों से कमल तालाब पर जे.सी.बी. से गहरीकरण प्रारम्भ किया। नगर भाजपा अध्यक्ष अतुल शर्मा ने माननीय राजेश शुक्ला जी से उसी समय यह निवेदन किया था कि, जे.सी.बी. से गहरीकरण सम्भव नही है, इसके लिये बड़ी संख्या में पोखलेन मशीनों को लगाना होगा, क्योंकि शीघ्र ही मानसून आने वाला है और तालाब पूरी तरह खाली एवं सुखा है, तब उन्होंने इस पर तुरन्त कार्यवाही करते हुऐ पोखलेन मशीनों की व्यवस्था की और गहरीकरण प्रारम्भ हुआ। उन्होंने इस कार्य में अपने हर विभाग को प्रतिदिन समय देने की अपील की और अच्छा कार्य भी कुछ दिन हुआ, परंतु विगत् दो दिनों से कमल तालाब पर गहरीकरण बंद हो गया, वहीं काला तालाब पर एवं नदी पर कोई कार्य प्रारम्भ नही हुआ। जबकि मानसून की संभावना को देखते हुऐ तीनों ही जगह युद्ध स्तर पर यह कार्य किया जाना था। भारतीय जनता पार्टी ने यह भी आरोप लगाया कि, यह कार्य अनुविभागीय अधिकारी का व्यक्तिगत नही होकर नगरपालिका की एक मात्र जिम्मेदारी थी क्यों कि, न केवल वह इन तीनों ही जल स्त्रोतो से पानी लेती है और जल कर आष्टा के नागरिकों से वसूलती है। दोनों ही तालाबों के स्वामित्व भी नगरपालिका का है और पार्वती नदी का भी पूरा उपयोग केवल नगरपालिका कर रही है ओर साथ ही साथ तालाब पर मछली पालन का ठेका देकर भी अन्य आय अर्जित कर रही है। इसलिये नगरपालिका को इनके गहरीकरण, स्वच्छता, विकास ओर सोन्दर्यकरण में भी पूर्ण जिम्मेदारी के साथ कार्य करना चाहिये था, परंतु कई वर्षो से कांग्रेस की इस नगरपालिका ने हर बार की तरह इस बार भी हाथ उंचे कर आर्थिक संकट का बहाना लिया और प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से यह कहा कि, हमारे पास इस कार्य के लिये बजट नही है। यह नगरपालिका और उसके अध्यक्ष की उदासीनता है इसलिये भारतीय जनता पार्टी ने यह तय किया कि, नगरपालिका की इस उदासीनता और अध्यक्ष की इस विकलांगता का विरोध करने के लिये भारतीय जनता पार्टी सांकेतिक भीख के रूप में नगर के नागरिकों से 2-2 (दो-दो) रूपये इकट्ठा करेगी और नगरपालिका को यह राशि देकर अपना यह विरोध दर्ज करायेगी कि, यदि तुम यदि अपनी जिम्मेदारी से बचना चाहते हों तो हम तुम्हे इस जिम्मेदारी का इसी तरह से एहसास कराऐंगे। चूंकि मानसून नजदीक है और जितना गहरीकरण और विकास इन दोनों तालाब और नदी के लिये हो सकता है, उतना युद्ध स्तर पर नगरपालिका शीघ्र अति शीघ्र करें, नही तो हमारा यह आंदोलन इसी प्रकार जारी रहेगा। क्योंकि, आष्टा की जल समस्या का भारतीय जनता पार्टी स्थाई समाधान चाहती है। भविष्य में नगर का विकास जनसंख्या आदि लगातार बढ़ रही है और जल की मांग भी लगातार बढ़ेगी। इसलिए यदि इन दोनों तालाब व नदी का गहरीकरण और विकास भविष्य को लेकर नही किया गया तो निश्चित रूप से आने वाले समय में भयाभय जल संकट का सामना आष्टा नगर को करना पड़ेगा। क्योंकि, इन दोनों तालाबों और नदी से ही आधे आष्टा नगर की जलापूर्ति करने वाले आधे से अधिक घरों व व्यवसायिक प्रतिष्ठानों के नलकूप धीरे-धीरे दम तोड़ रहे है और आष्टा नगर का जल स्तर लगातार नीचे गिरता जा रहा है। नदी और दोनां तालाबों के गहरीकरण और विकास कार्य से सैकड़ों की संख्या में आष्टा में लगे हुऐ निजी व सरकारी नलकूप, कुऐं एवं बावड़ी जिन्दा रहेंगे, जिससे कि जल संकट का स्थाई समाधान होगा। भाजपा के कार्यकर्ताओं ने आज ने आज 2-2 दो-दो रूपये की भीख रूपी राशि स्थानीय भाजपा नगर कार्यालय से प्रारम्भ कर यह जुलूस नगर के विभिन्न मार्गां से होता हुआ मुख्य नगरपालिका अधिकारी के कार्यालय पर पहुंचा और सी.एम.ओ. को चेतावनी देकर शीघ्र उक्त गहरीकरण एवं विकास कार्य को युद्ध स्तर पर प्रारम्भ करने को कहा और भीख में इकट्ठी हुई राशि 1528 रूपये नगरपालिका सी.एम.ओ. नीरज श्रीवास्तव को सौंपे गये और रसीद प्राप्त की। उक्त आंदोलन का नेतृत्व भाजपा नगर अध्यक्ष अतुल शर्मा, भाजपा नगर उपाध्यक्ष रूपेश राठौर एवं नगर के महामंत्री धनरूपमल जैन तथा नगरपालिका के नेताप्रतिपक्ष भुरू खां कर रहे थे। इस आंदोलन में प्रमुख रूप से भाजपा युवा मोर्चा अध्यक्ष नितीन महांकाल, रायसिंह मेवाड़ा, भगवत मेवाड़ा विशाल चौरसिया, सुमित मेहता, पवन वर्मा, निलेश खण्डेवाल, रवि शर्मा, दीपक राठौर, रोहित सेन, आदित्य जोशी, तोषनारायण भुतिया, रसीद पठान, कन्हैया गेहलोत, सलीम ठेकेदार, राजेश घेंघट, अवनिश पिपलोदिया, गौरव सोनी, राहुल ठाकुर, राहुल डाबी आदि कार्यकर्ता मौजूद थे। अंत में आभार नगर भाजपा अध्यक्ष अतुल शर्मा ने किया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!