Take a fresh look at your lifestyle.

आष्टा : प्रसिद्ध वी.आई.टी.भोपाल कॉलेज में छात्रों का हंगामा , स्थानीय प्रशासन और पुलिस पहुंचा मौके पर।

0 24

आष्टा प्रसिद्ध वी आई टी कॉलेज में छात्रों का हंगामा स्थानीय प्रशासन पहुंचा मौके पर

आष्टा तहसील के कोठरी में स्थित वीआईटी भोपाल कॉलेज बीते 3 दिनों से चर्चाओं में है 4 सितंबर को रात्रि में हुआ हंगामा आखिरकार कॉलेज कैंपस से बाहर आया और पुलिस को उस में हस्तक्षेप करना पड़ा मामला था वार्डन और गार्ड द्वारा कुछ छात्रों की तलाशी लेने और मारपीट करने का मामले ने इतना तूल पकड़ा कि कॉलेज प्रबंधन ने 5 लोगों को रस्टिकेट करने तक के निर्णय ले लिए लेकिन छात्रों ने इसका पूर्ण रूप से विरोध किया 2 दिनों से छात्र अपनी क्लासेस अटेंड नहीं कर रहे थे और इसी बीच आज दोपहर में छात्रों ने कॉलेज प्रोफेसर रोको कैंपस से बाहर निकलने से रोक दिया और गेट के सामने बैठकर जमकर नारेबाजी की।

सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार 4 सितंबर की रात को गार्ड और वार्डन कुछ छात्रों के कमरों में पहुंचे और उनकी तलाशी लेने लगे छात्रों के सामान और कपड़ों को इधर-उधर फेंकने लगे जिसका छात्रों ने विरोध किया विरोध करने पर छात्रों और गार्ड के साथ कहासुनी हुई और बात मारपीट तक पहुंच गई गार्ड ने छात्रों को डंडे से पीटा कुछ देर बाद आक्रोशित छात्रों ने गेट पर पहुंच कर गार्ड की भी धुनाई कर दी फिलहाल गार्ड आष्टा के किसी अस्पताल में उपचार करवा रहा है लेकिन मामला कैंपस के अंदर का था तो वह बाहर नहीं आ पाया सोचने बात यह है कि आखिर गार्ड को कैसे छात्रों के तलाशी लेने की अनुमति मिली और आखिर अनुमति किसने दी बगैर प्रबंधन के वरिष्ठ प्रोफेसरों के गार्ड उन तक कैसे पहुंचा जिसके बाद छात्रों ने आक्रोशित होकर 5 सितंबर को गेट पर धरना दिया जिससे बीआईटी कॉलेज का प्रबंधन सामने आया और उनसे 24 घंटे का समय मांगा छात्र शांत होकर अपने हॉस्टल की ओर निकल गए अगले दिन यानी आज 6 सितंबर को फिर छात्रों ने प्रबंधन से बात करने की कोशिश की तो उन्हें पता चला कि उक्त सारे मामलों के चलते 5 छात्रों को कॉलेज से रस्टिकेट किया जा रहा है यह सुनकर छात्रों का आक्रोश अपनी चरम सीमा पर पहुंच गया और छात्र कॉलेज कैंपस में हंगामा करने लगे और बात पुलिस तक पहुंची।

किसी के द्वारा हंड्रेड डायल पर सूचना दी गई कि कॉलेज के अंदर कोई बड़ा मामला हुआ है सूचना पर डायल हंड्रेड का वाहन कॉलेज पहुंचा लेकिन वहां खड़े गार्डों ने हंड्रेड डायल को अंदर नहीं जाने दिया जिसके बाद डायल हंड्रेड के पायलट द्वारा अमला चौकी प्रभारी भंवर सिंह भूरिया को इसकी सूचना दी गई जब भंवर सिंह भूरिया कॉलेज परिसर के पास पहुंचे तो उन्हें भी अंदर प्रवेश नहीं मिला चौकी प्रभारी श्री भूरिया ने तत्काल मामले की जानकारी एसडीओपी वीरेंद्र मिश्रा को दी एसडीओपी वीरेंद्र मिश्रा उस वक्त आष्टा नगर में फ्लैग मार्च कर रहे थे फ्लैग मार्च को बीच में रोककर वह तत्काल बीआईटी कॉलेज के लिए रवाना हुए जब वहां पर पहुंचे तो पहले गार्ड द्वारा रोकने की कोशिश की गई लेकिन पुलिस का और सारी प्रशासन का बड़ा काफिला देखकर गार्ड पस्त हुए क्योंकि काफिले में एसडीएम ब्रजेश सक्सेना एसडीओपी वीरेंद्र मिश्रा आष्टा थाना प्रभारी अरुण सिंह और कई अधिकारी मौजूद थे लगभग ढाई घंटे की मशक्कत के बाद छात्र शांत हुए और लिखित आवेदन देकर अपनी व्यथा सुनाई पुलिस ने पूरे कैंपस का दौरा किया छात्रों के हॉस्टल तक गए और 5 छात्रों से लिखित आवेदन लिया और उन्हें गलती पाए जाने पर जिम्मेदार के प्रति कार्यवाही का भी आश्वासन दिया।

एसडीओपी विरेंद्र मिश्रा ने मीडिया से चर्चा में बताया कि छात्र और गार्ड का झगड़ा था जिसने बड़ा स्वरूप ले लिया और मामला पुलिस तक पहुंचा है इन सब के पीछे जो भी जिम्मेदार होगा उसके खिलाफ पुलिस कार्रवाई करेगी।

वी आई टी कॉलेज के गार्ड द्वारा पुलिस को रोकना मीडिया को रोकना अपने आप में संदेह पैदा कर रहा था आंखें प्रबंधन क्यों पुलिसकर्मियों को और मीडिया कर्मियों को अंदर जाने से रोक रहा था

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!