Take a fresh look at your lifestyle.

आष्टा : पत्रकार चक्रेश जैन को जिंदा जलाए जाने की घटना से पत्रकारों में भारी आक्रोश , सीएम के नाम नगर के सभी पत्रकारों ने तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन

0 2

पत्रकार चक्रेश जैन को जिंदा जलाए जाने की घटना से पत्रकारों में भारी आक्रोश
 सीएम के नाम नगर के सभी पत्रकारों ने तहसीलदार को सौंपा ज्ञापन
 सत्संग भवन में हुई शोक सभा आयोजित 
लोकस्वामी के आधार स्तंभ बाबूजी जगजीवनदास सोनी एवं पत्रकार चक्रेश जैन को सभी पत्रकारों ने दी श्रद्धांजलि
 आष्टा। मध्यप्रदेश में कुछ समय से पत्रकारों पर हमले लगातार बढ़ते जा रहे हैं अब तो दबंगों के हौसले इतने बुलंद हो गए हैं कि वह पत्रकारों को जिंदा तक जलाने लगे हैं। ऐसी ही यह घटना कटु सत्य लिखने वाले सागर जिले के शाहगढ़ के पत्रकार चक्रेश जैन के साथ घटित हुई। जनपद के खिलाफ सच लिखने की सजा उन्हें अपनी मौत के रूप में चुकाना पड़ी। चक्रेश जैन की जिंदा जलाए जाने की घटना से पूरे मध्यप्रदेश के पत्रकारों में भारी आक्रोश व्याप्त है। इस घटना से दुखी आष्टा के समस्त पत्रकार संगठनों की ओर से आज एक ज्ञापन मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के नाम आष्टा तहसील दार अजय प्रताप पटेल को सौंपा गया। इसके पूर्व मप्र श्रमजीवी पत्रकार संघ,ऑल इंडिया जैन जर्नलिस्ट एसोसिएशन,प्रेस क्लब आष्टा, स्थानीय प्रेस क्लब के सभी पत्रकार सत्संग भवन में एकत्रित हुए जहां पर लोकस्वामी के पितृ  पुरुष बाबूजी श्री जगजीवनदास सोनी एवं पत्रकार चक्रेश जैन के दुखद निधन पर सभी पत्रकारों ने दोनों मृत आत्माओं को पुष्पांजलि अर्पित की एवं उनके परिवार को इस गहन दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करने हेतु भगवान से प्रार्थना कर मौन श्रद्धांजलि अर्पित की। सत्संग भवन में शोक सभा के बाद सभी पत्रकार तहसील कार्यालय पहुंचे यहां पर मप्र श्रमजीवी पत्रकार संघ, प्रेस क्लब आष्टा, स्थानीय प्रेस क्लब एवं ऑल इंडिया जैन जर्नलिस्ट एसोसिएशन की ओर से सभी पत्रकारों ने एक ज्ञापन मप्र के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के नाम तहसीलदार आष्टा को सौंपा। सौंपे गये ज्ञापन में स्थानीय पत्रकारों ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ से मांग की है कि मध्य प्रदेश में जिस तरह से आंचलिक पत्रकारों पर छूट  भैया नेताओं द्वारा एवं दबंगों द्वारा सच लिखने से बौखला कर हमले कर रहे है, दादागिरी धमकियां देना तो आम बात हो गई है,अब तो दबंग लोग पत्रकारों को जिंदा जलाए जाने तक की घटनाओ को अंजाम देने से भी नही चूक रहे है।मुख्यमंत्री जी आप को याद दिला दे कुछ दिनों पूर्व आपने ही कहा था की मप्र में पत्रकारों को डराने,धमकाने वालो पर सख्त कार्यवाही होगी।क्या आप अपनी उक्त घोषणा अनुसार सागर पुलिस को चक्रेश जैन मामले में दोषियों के खिलाफ कठोर कार्यवाही के निर्देश देंगे.? सभी पत्रकारों ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ से मांग की है कि सागर जिले के शामगढ़ के पत्रकार चक्रेश जैन के परिजनों को मध्य प्रदेश सरकार की ओर से 10 लाख की आर्थिक सहायता दी जाए, उसके परिवार के एक सदस्य को शासकीय नौकरी में लगाया जाए, तथा जिन लोगों ने भी चक्रेश जैन को जिंदा जलाया उनके खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया जाए तथा इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराकर दोषियों को सख्त से सख्त सजा मिले ऐसी कार्यवाही की  जाए। इस अवसर पर नगर के पत्रकार सुशील संचेती, नरेंद्र गंगवाल, अमित मकोड़ी, संजय जोशी, अक्षत पाठक, दिनेश शर्मा, बाबू पांचाल, जहूर मंसूरी, सुखदेव जाट, मोहित सोनी, विक्रम सिंह ठाकुर कैलाश अजनोतिया सहित कई पत्रकार साथी उपस्थित थे।  सभी पत्रकार संगठन मध्य प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार संघ, प्रेस क्लब आष्टा, स्थानीय प्रेस क्लब, ऑल इंडिया जैन जर्नलिस्ट एसोसिएशन, के सभी पत्रकारों ने एक स्वर में शाहगढ़ के पत्रकार चक्रेश जैन को जिंदा जलाए जाने की घटना के प्रति कड़ा आक्रोश व्यक्त करते हुए मध्य प्रदेश सरकार से मांग की है कि इस घटना को अंजाम देने वाला जो भी आरोपी हो चाहे वह किसी भी पद पर आसीन हो उसके खिलाफ सख्त से सख्त ठोस कार्रवाई की जाए। अन्यथा पूरे मध्यप्रदेश में सभी पत्रकार इस घटना को लेकर आंदोलन की रूपरेखा तैयार कर सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!