Take a fresh look at your lifestyle.

आष्टा : न्यायालय परिसर विगत 2 वर्षों में हुआ हरियाली मय

0 10

“न्यायालय परिसर विगत 2 वर्षों में हुआ हरियाली मय ” आष्टा (नि प्र)विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर आष्टा न्यायालय परिसर में पूर्व से लगाए गए वृक्षों के नीचे कुंड बनाकर जो मिट्टी भरी गई थी उसमें हरी दूब लगाकर हरियाली को और अधिक फैलाने का प्रयास किया गया पर्यावरण प्रेमी संघ के प्रेरक एडवोकेट धीरज धारवा ने इस अवसर पर बताया की सन 2017 में माननीय प्रथम अपर जिला न्यायाधीश सुश्री सरिता वाधवानी जब स्थानांतरित होकर आई, तब न्यायालय में हरियाली को लेकर एक सुना पन था, परिसर उजाड़ था, व्यवस्थाओं का अभाव था l लेकिन सुश्री वाधवानी ने सभी पर्यावरण प्रेमी एडवोकेट्स से विचार विमर्श कर न्यायालय परिसर को सुंदर और हरियाली युक्त बनाने की योजना बनाई और परिसर में श्रमदान करवा कर स्वयं विशेष रूचि लेकर न्यायालय प्रांगण को एक बगीचे (पार्क ) के रूप में विकसित कर दिया हे l जिसे देखा जा सकता है l अन्य विभागो को भी इससे प्रेरणा लेकर अपने परिसरों को एक बगीचे के रूप में स्थापित करना चाहिए वास्तव में न्यायालय परिसर पर्यावरण के क्षेत्र में एक प्रेरणा बन चुका है l विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर अधिवक्ता सहित विधिक सेवा प्राधिकरण आदि लोग उपस्थित थे जिन्होंने न्यायालय परिसर के बगीचे की सफाई में श्रमदान कर पौधों को की गुड़ाई कर पानी भी दिया और इन पौधों तथा बगीचे को संरक्षित करने का संकल्प लिया l

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!