Take a fresh look at your lifestyle.

आष्टा : नेशनल लोक अदालत में 60 प्रकरणों का हुआ निराकरण।

0 10

-ःः राष्ट्ीय लोक अदालत दिनांक 08 फरवरी 2020 को सम्पन्न हुई :ः-
आष्टा (नि.प्र.) न्यायालय परिसर, आष्टा में राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर के आदेशानुसार नेशनल लोक अदालत सम्पन्न हुई। सर्वप्रथम मॉ सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष विधिक सेवा समिति, आष्टा की अध्यक्ष माननीय अपरt जिला एवं सत्र न्यायाधीश, सरिता वाधवानी तथा अन्य न्यायाधीशगण प्रदीप राठौर, गिरिश कुमार शर्मा, मनोज भाटी एवं श्रीमती सारिका भाटी, म.प्र.वि.वितरण कंपनी के अभियंता राजीव रंजन, नगर पालिका के सी.एम.ओ. नीरज श्रीवास्तव, एवम् कर्मचारीगण ने माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर नेशनल लोक अदालत का प्रारंभ किया गया।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए तहसील विधिक सेवा प्राधिकरण की अध्यक्ष सुश्री वाधवानी ने कहा कि लोक अदालत का है यह नारा ‘‘न कोई जीता न कोई हारा’’। नेशनल लोक अदालत संपूर्ण भारत वर्ष में आज के दिन लगाई गई है और यदि पक्षकारगण लोक अदालत में अपने प्रकरणों का आपसी सहमति से निराकरण करवाते है तो इससे उनके बीच में आपसी प्रेम और सोहार्द की बढोत्तरी होती है, जिससे आपसी मनमुटाव ओर दुश्मनी कम होती है और लोग बगैर किसी लडाई-झगडे के प्रेम से रह सकते है। उनके द्वारा यह भी बताया गया कि लोक अदालत के माध्यम से 138 परक्राम्य मे लिखित अधिनियम एवम् सिविल प्रकरणां का निराकरण होने पर पक्षकारगण, उनके द्वारा अदा किया गया न्याय शुल्क वापस किया जायेगा।
नेशनल लोक अदालत में आष्टा तहसील के भारतीय स्टेट बैंक, यूको बैंक, बैंक आफ महाराष्ट्र, बैंक ऑफ बड़ोदा, पंजाब नेशनल बैंक, नर्मदा झाबुआ ग्रामीण बैंक, सहित नगर पालिका परिषद आष्टा, जावर एवं कोठरी तथा मध्यप्रदेश विद्युत वितरण कम्पनी के न्यायालय परिसर में शिविर लगाये गए थे। जिसमें उपभोक्ता, पक्षकारगण एवं ऋणग्रहिता काफी मात्रा में उपस्थित थे और सभी ने नेशनल लोक अदालत द्वारा प्रदत्त सुविधा एवं राहत का लाभ लिया। न्यायालय में भी काफी प्रकरणो का निपटारा पक्षकारगण को समझाईश देकर किया गया।
सिविल न्यायालय आष्टा मे नेशनल लोक अदालत के दौरान काफी संख्या मे पक्षकारगण उपस्थित हुये और उन्हें खण्डपीठ के पीठासीन अधिकारियों, सदस्यो, अधिवक्तागणों, नगर पलिका सी.एम.ओं., विद्युत विभाग के अभियंता एवम् विभिन्न बैंको के अधिकारिगण द्वारा नेशनल लोक अदालत मे विभिन्न प्रकरणों मे दी जानी वाली छूट एवम् लोक अदालत के महत्व एवम् लाभ बताते हुये समझौते कराये गये। उनके द्वारा समझाये जाने के प्रभाव से सिविल न्यायालय आष्टा मे नगर पलिका के शिविरो एवम् विद्युत विभाग के शिविरो मे पक्षकारो द्वारा बढ़चढ़ कर हिस्सा लेते हुये राशि जमा करायी गयी। पक्षकारों द्वारा विद्युत के प्रीलिटिगेशन प्रकरणों मे कुल 352696 रूपये की राशि एवम् नगर पलिका के शिविर मे जलकर एवम् सम्पत्ति कर की कुल 236983 रूपये की राशि जमा की ।
सिविल न्यायालय आष्टा के विभिन्न न्यायालयों मे लंबित प्रकरणों में से कुल 60 प्रकरणों का नेशनल लोक अदालत में समझौता के माध्यम से निराकरण किया गया, जिसमें 124 व्यक्ति लाभान्वित हुये तथा 3,66,60,54/-रूपये राशि के समझौते हुए। एमपीईबी के प्रीलिटीकेशन के कुल 48 प्रकरणों में कुल 3,52,696/-रूपये की राशि की वसूली की गई एवं नगर पालिका के सम्पत्ति कर की 236983/-रूपये की राशि वसूल की गई। इसमें प्रथम अपर सत्र न्यायाधीश सरिता वाधवानी के न्यायालय मे कुल 19 विद्युत प्रकरणों का निराकरण करते हुये 2,25,161/-रूपये की राशि जमा करायी गयी, तथा मोटरयान अधिनियम के 3 प्रकरणों का निराकरण हुआ, जिसमे कुल 03 पक्षकारो को 5,40,000/-समझौता राशि दिये जाने के आदेश न्यायालय द्वारा किये गये। द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश प्रदीप राठौर के न्यायालय मे 1305000/-राशि के 05 प्रकरणों का निराकरण हुआ, मोटरयान अधिनियम में राशि 1305000/-रूपये के 04 प्रकरण एवं सिविल अपील में 01 प्रकरण का निराकरण हुआ। न्यायिक मजि. प्रथम श्रेणी गिरिश कुमार शर्मा द्वारा 15 एन.आई.एक्ट के प्रकरण, समझौता राशि 11,45,428 एवम् 02 सिविल प्रकरण, राशि 104328/- का निराकरण किया गया, मनोज भाटी के न्यायालय द्वारा 04 एन.आई.एक्ट, राशि 2,74,137/- के प्रकरणों एवम् 02 प्रकरण भरण पोषण के प्रकरण राशि 22,000/- का निराकरण किया गया, सारिका भाटी के न्यायालय द्वारा 01 एन.आई.एक्ट राशि 50,000/- के प्रकरणों एवम् 09 एम.जे.सी. का निराकरण किया गया।
न्यायालय परिसर मे पक्षकारो को समझाईश देने हेतु अधिवक्ता अध्यक्ष ताज मोहम्मद ताज, अधिवक्तागण मोहम्मद शमीम जाहिरी, आर.एम. धारंवा, निर्भयसिंह ठाकुर, रूपसिंह ठाकुर, सुधीर पाठक, एम.एस. मेवाड़ा, दिलीप सिंह ठाकुर, दिनेश कुमार भूतिया, मसूद अंसारी, भैरोसिंह ठाकुर, नगीनचंद जैन, मशकूर अली, ए.के.कुरैशी, विक्रम वर्मा, धीरज धारवा, सुरेन्द्र परमार, विजेन्द्र सिंह ठाकुर, सीताराम परमार, जे.पी.शर्मा , कुलदीप शर्मा, कुलदीप िंसह ठाकुर, नरेन्द्र शर्मा, सौभाग्य सिंह ठाकुर, अनीता यादव, आदि उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!