Take a fresh look at your lifestyle.

आष्टा : नगर में होंगे 18 की जगह 24 वार्ड, मध्यप्रदेश राजपत्र में हुआ प्रकाशन , पूर्व नपाध्यक्ष कैलाश परमार ने नागरिकगणों की ओर से माना मुख्यमंत्री का आभार , नागरिकों को दी बधाई।

0 0

नगर में होंगे 18 की जगह 24 वार्ड, मध्यप्रदेश राजपत्र में हुआ प्रकाशन
पूर्व नपाध्यक्ष कैलाश परमार ने नागरिकगणों की ओर से माना मुख्यमंत्री का आभार।
नागरिकों को दी बधाई
आष्टा। आगामी नगरपालिका परिषद के चुनाव में जनता को 18 की जगह 24 पार्षद चुनने का अवसर मिलेगा। इस आशय की जानकारी देते हुए पूर्व नपाध्यक्ष कैलाश परमार ने बताया कि मध्यप्रदेश शासन द्वारा मध्यप्रदेश राजपत्र 1 फरवरी 2020 को मध्यप्रदेश नगरपालिका अधिनियम 1961 की धारा 29 की उपधारा 1 द्वारा प्रदत्त शक्तियों का उपयोग में लाते हुए नगरपालिका परिषद आष्टा के लिए परिषद के प्रस्ताव अनुसार 24 वार्डो को अवधारित किया है। नगर हित में इस महत्वपूर्ण निर्णय के लिए और इस प्रस्ताव की स्वीकृति के लिए पूर्व नपाध्यक्ष कैलाश परमार ने मुख्यमंत्री कमलनाथ, नगरीय प्रशासन मंत्री जयवर्धनसिंह, प्रभारी मंत्री आरिफ अकील, लोक निर्माण विभाग मंत्री सज्जनसिंह वर्मा एवं कलेक्टर अजय गुप्ता का आभार व्यक्त किया है।
पूर्व नपाध्यक्ष कैलाश परमार ने बताया कि नगरपालिका परिषद आष्टा परिषद के निर्वाचन वर्ष 1994 में निर्धारित 18 वार्डो के आधार पर चुनाव होकर परिषद निर्वाचित हुई थी। उसके पूर्व नगरपालिका परिषद आष्टा में वार्डो की संख्या 15 रहती थी, वर्ष 1994 के बाद आष्टा नगर में आसपास के ग्रामीणबंधुओं ने तथा बाहरी निवासियों ने आकर अपना निवास प्रारंभ किया और अपने-अपने आवास बनाकर आष्टा के शहरीकरण में वृद्धि की। मुख्य स्थल के वार्डो का क्षेत्र निर्धारित था, परंतु आसपास के वार्डो के बाहरी क्षेत्र के निवासियों ने अपने-अपने मकान बनाए और बाहरी वार्डो में नागरिकों की संख्या बढ़ती गई। अलीपुर क्षेत्र में बायपास के बाद नवीन मकान निर्माण एवं निवासियों की संख्या में वृद्धि होती गई। वर्तमान वार्ड क्रमांक 15, 16 एवं 18 में बाहरी क्षेत्र अधिक होने के कारण नागरिकों की संख्या बढ़ती गई। नगर के वार्ड क्रमांक 15 एवं 16 की जनसंख्या की दृष्टि से 3-3 वार्डो के समान हो गए इस कारण विकास में नगरपालिका परिषद को कठिनाई होने लगी, नगरपालिका परिषद आष्टा के तत्कालीन अध्यक्ष कैलाश परमार ने इस दुविधा को समाप्त करने तथा दूरदर्शी सोच के आधार पर परिषद की बैठक दिनांक 05/03/2019 में वार्डो की संख्या वृद्धि बावत्् प्रस्ताव प्रस्तुत किया और समूची परिषद को इस संबंध में वस्तुस्थिति से अवगत कराकर परिषद को सहमत किया और परिषद ने सर्वसम्मति से 18 के स्थान पर 24 वार्डो का निर्णय लिया। तदुपरांत कार्यालयीन कार्यवाही एवं प्रशासनिक कार्यवाही सतत्् निगाह रखकर नगरपालिका कार्यालय को इस संबंध में सचैत कर तथा अनुविभागीय अधिकारी एवं जिला कलेक्टर को समस्त परिस्थितियों से अवगत कराकर इस वार्ड वृद्धि बावत्् प्रमुख सचिव नगरीय प्रशासन एवं विकास से भी भेंटकर व्यक्तिशः नगरपालिका परिषद आष्टा के पक्ष को प्रस्तुत किया कि आष्टा में कुछ वार्ड अत्यंत कम आबादी के तथा कुछ वार्ड विशाल आबादी के है तथा नगर की जनसंख्या के लिए 2011 की जनगणना से 53177 हो गई है इस कारण न्यूनतम 2000 जनसंख्या का मानक स्थिर कर 24 वार्ड नगर आष्टा में बनाए जाना आवश्यक है। राज्य शासन ने नपाध्यक्ष श्री परमार के इस तर्क को स्वीकार कर नगर में परिषद के प्रस्ताव अनुरूप 24 वार्ड बनाने का जिला कलेक्टर सीहोर को आदेश किया। नगर में 24 वार्ड बनाने का विस्तृत प्रस्ताव मध्यप्रदेश के राजपत्र में 1 फरवरी 2020 को प्रकाशन हो चुका है। आगामी चुनाव इन 24 वार्डो के आधार पर ही होंगे। अलीपुर में 3 के स्थान पर 4 वार्ड तथा वार्ड क्रमांक 15 में कुल 3 वार्डो के साथ ही वार्ड क्रमांक 16 में 3 वार्ड होंगे तथा वार्ड क्रमांक 17 और 18 के मध्य से एक नवीन वार्ड बन रहा है।

छोटे और समान वार्डो से बड़ा फायदा - आगामी चुनाव में अगर 24 वार्डो के आधार पर चुनाव होते है तो जनता को नगर सरकार में पहले से ज्यादा अपने प्रतिनिधित्व भेजने का सीधा फायदा मिलेगा। जनसंख्या और क्षेत्रफल की दृष्टि से अलीपुर व 15-16 बड़े वार्ड है और इस वजह से यहां से चुने हुए पार्षदों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता था, हालांकि वर्तमान परिषद द्वारा इन वार्डो में मौजूद कई कॉलोनियों में अनेक विकास कार्य करवाएं है, लेकिन अभी भी इन कॉलोनियों में सबसे ज्यादा विकास कार्य करने की गुंजाईश है। वहीं बड़े हुए क्षेत्रफल की वजह से चुने हुए पार्षदों को भी परेशानी आती थी और नागरिकगण भी छोटी-छोटी समस्याओं के लिए जूझते थे। कम क्षेत्रफल व कम जनसंख्या में बने नए वार्ड से चुने हुए जनप्रतिनिधि अब ज्यादा अच्छे से नागरिकगणों की समस्याएं सुलझा सकेंगे, वहीं नगर विकास के लिए आने वाली राशि और नगर सरकार का बजट भी समान रूप से क्षेत्रफल में दिया जाना आसान हो सकेगा जिसका सीधा फायदा सभी वार्डो को मिलेगा। 
वार्डो का होगा नए सिरे से आरक्षण - निर्धारित किए जाने वाले 24 वार्डो में अब आरक्षण जिला कलेक्टर द्वारा किया जाएगा। चूंकि वार्ड 18 से 24 हो गए है और सीमाओं में भी परिवर्तन हुआ है, इस कारण नवीन आरक्षण होगा। वर्तमान नियमो के अनुरूप 12 वार्ड महिला के लिए आरक्षित होंगे, अगर चुनाव के पूर्व इन बिंदुओं पर कोई विपरीत संशोधन हुआ तो फिर स्थिति संशोधन के अनुरूप होगी। 
नगर के 3 वार्ड अनुसूचित जाति हेतु आरक्षित होने की संभावना - 2011 की जनगणना के अनुसार नगर में 6409 अनुसूचित जाति के नागरिक निवास करते है, इस दृष्टि से 3 वार्ड अनुसूचित जाति हेतु आऱिक्षत होने की संभावना है। नवनिर्धारित वार्डो की जनसंख्या को दृष्टिगत रखें तो वार्ड क्रमांक 17 राजीव गांधी वार्ड में 1280, वार्ड क्रमांक 18 इंदिरा गांधी वार्ड में 1010 तथा वार्ड क्रमांक 4 महात्मा गांधी वार्ड में 789 अनुसूचित जाति के नागरिकगण निवास करते है अतएव यह तीनों वार्ड अनुसूचित जाति हेतु आरक्षित हो सकेंगे। अनुसूचित जनजाति के कुल 578 नागरिक है इस कारण अनुसूचित जनजाति के लिए कोई वार्ड आरक्षित नही हो सकेगा।
अध्यक्ष का आरक्षण फरवरी में संभावित - मध्यप्रदेश शासन द्वारा घोषित कार्यक्रम के अनुसार अध्यक्ष का आरक्षण मध्यप्रदेश शासन स्तर पर 15 फरवरी को परिपूर्ण होगा। किंतु नवीन परिस्थितयों में इस आरक्षण की तारीख में भी बदलाव संभव है। नए वार्ड परिसीमन के हिसाब से अलीपुर स्थित महात्मा गांधी वार्ड क्रमांक 4 सबसे कम जनसंख्या (2005) वाला तथा डॉ. राममनोहर लोहिया वार्ड क्रमांक 7 सबसे ज्यादा जनसंख्या (2430) वाला वार्ड होगा। 
महापुरूषों व शहीदों के नाम से जाने जाएंगे वार्ड - डॉ. राजेन्द्रप्रसाद वार्ड, जवाहरलाल नेहरू वार्ड, महात्मा गांधी वार्ड, स्वामी विवेकानंद वार्ड, शाकीर अली खां वार्ड, डॉ. राममनोहर लोहिया वार्ड, मौलाना आजाद वार्ड, सरदार भगतसिंह वार्ड, लालबहादुर शास्त्री वार्ड, रफी अहमद किदवई वार्ड, रविन्द्र नाथ टेगौर वार्ड, सरदार पटेल वार्ड, डॉ. अंबेडकर वार्ड, महर्षिदयानंद वार्ड, जयप्रकाशनारायण वार्ड, सुभाषचंद्र बोस वार्ड, आचार नरेन्द्र देव वार्ड, चंद्रशेखर आजाद वार्ड, राजीव गांधी वार्ड, महाराणाप्रताप वार्ड, अटलबिहारी वाजपेयी वार्ड, रानीलक्ष्मीबाई वार्ड, डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम वार्ड, इंदिरा गांधी वार्ड के नाम से जाने जाएंगे।  

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!