Take a fresh look at your lifestyle.

आष्टा: ग्राम सामरदा में नानी और नातिन की मौत, हत्या या आत्महत्या?

0 47

60 साल की बुजुर्ग नानी ने अपनी 9 साल की नातिन के साथ फांसी के फंदे पर झूल कर की आत्महत्या
कारण अज्ञात, आष्टा पुलिस मौके पर
आष्टा के ग्राम सामरदा की हृदय विदारक घटना

आष्टा । आज आष्टा थाने के ग्राम सामरदा में घटी एक घटना ने पूरे क्षेत्र को बेचैन कर के रख दिया,जिसने भी इस घटना उसका कलेजा कांप गया,और एक बार उसने जरूर सोंचा होगा की क्या वाकई में ऐसा हुआ है,क्या एक नानी-नातिन ने ऐसा कैसे,क्यो किया होगा,क्या नानी का कलेजा नही कांपा होगा.?
लेकिन ये घटना कटु सत्य है।
आज आष्टा थाने के अंतर्गत आने वाले ग्राम सामरदा में एक 60 वर्षीय बुजुर्ग नानी ने अपनी 9 साल की नातिन के साथ ग्राम के बाहर खेत पर एक पेड़ पर फांसी लगा कर नानी नातिन ने आत्महत्या कर ली।
आत्महत्या का कारण अभी अज्ञात है,लेकिन इस घटना के पीछे पारिवारिक कारण की संभावना व्यक्त की जा रही है,सही कारण जांच के बाद ही उजागर होगा।
आष्टा टीआई अरुणासिंह ने इस प्रतिनिधि को बताया की आज प्रातः 9 बजे ग्राम सामरदा निवासी श्रीमति कृष्णा बाई पत्नि हरिनारायण जाती गेहलोत उम्र 60 वर्ष अपनी 9 साल की नातिन कु लक्ष्मी को लेकर घर से सत्संग में जाने का कहकर निकली लेकिन दोपहर तक नानी ओर नातिन घर नही पहुची।
दोपहर करीब 12 बजे मृतक नानी के पति हरिनारायण जब खेत पर पहुचे तो जो उन्होंने खेत पर देखा वो देख कर दंग रह गए,उनके पैरों के नीचे से जमीन खिसक गई।
घर वालो को खबर की की कृष्णा ओर लक्ष्मी खेत पर एक पेड़ पर फांसी के फंदे पर लटके हुए है।
खबर लगते ही परिजन,ग्रामीण खेत पर पहुचे।
आष्टा पुलिस को सूचना दी,सूचना पर सीएसपी श्री मंगलसिंह टी आई अरुणासिंह मोके पर पहुचे,घटना स्थल का बारीकी से मुआयना किया,एफएसएल दल को भी सूचना की वो टीम के साथ मौके पर पहुचे,जांच की।
दोनों शवों का ग्रामीणों की उपस्तिथि में पंचनामा बनाकर शवो को पीएम के लिए आष्टा सिविल अस्पताल भेजा, एवं आष्टा पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया।
नानी नातिन दोनों ने फांसी लगा कर आत्महत्या क्यों की यह जांच का बड़ा विषय है।
परिजनों के बयानों के बाद ही यह खुलासा हो पाएगा। आपुष्ट
खबर है की कोई पारिवारिक कारण आत्महत्या के पीछे हो सकता है.?
इस पूरे घटनाक्रम में आष्टा पुलिस के लिए बड़े यक्ष प्रश्न के साथ जांच के बिंदु यह है की आखिर ऐसी क्या गम्भीर स्तिथि बनी की नानी नातिन ने फांसी लगा कर मौत को गले लगा लिया।
क्या पहले नानी ने नातिन को फांसी के फंदे पर लटकाया उसके बाद वो लटकी.?
या इस घटना में कोई और अज्ञात तो शामिल नही है.?
क्या ये दोनों राधास्वामी के सत्संग में पहुचे थे,क्योकि घर से सत्संग का कहकर ही निकले थे.?
अगर ये सत्संग में गये तो जब वहा से निकले तो किसी ने तो खेत की ओर आते देखा होगा क्या उस वक्त कोई और साथ था.?
या ये दोनों सत्संग में गये ही नही,ओर खेत पर पहुच गये।
घर से निकलने,सत्संग के समापन एवं घटना के अंजाम का समय क्या है का भी मिलान होना चाहिए।
नातिन की माँ जहाँ है क्या वे बेटी के नानी के यहां रहने से राजी थी या नाराज थी.?
क्या परिवार में नाना नानी के द्वारा इस नातिन को अपने पास रखने को लेकर कोई राजी नाराजी तो नही थी.?
अगर सब कुछ ठीक था तो फिर ये कदम क्यो उठाना पड़ा.?
दबी जुबान से कर्जे की बाते भी सामने आ रही है। पीड़ित परिवार क्या किसी कर्जे से परेशान है.?
ये एवं इसके जैसे कई अन्य अनसुलझे प्रश्न इस घटना को लेकर है.?
इस मामले की पूरी गुथ्थी सुलझाना अब आष्टा पुलिस के लिए एक बड़ी चुनोती है।

आष्टा पुलिस ने बताया की मर्ग क्र 14 कायम कर जांच में लिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!