Take a fresh look at your lifestyle.

आष्टा : कई घंटों लंबी कतार में लगने के बाद मिल रहा 2 बोरी यूरिया खाद,”कतार में किसान”

0 0

आष्टा तहसील में खाद को लेकर किसान परेशान 10 बोरी यूरिया की आवश्यकता पर बमुश्किल मिल रही है दो बोरिया फसल के नुकसान से किसान घंटों खड़े हो रहे हैं लंबी कतारों में

आष्टा तहसील में विगत कई दिनों से यूरिया खाद की कमी से किसान परेशान है माउठा गिर चुका है किसानों के पास खाद के रूप में यूरिया नहीं है अगर समय पर फसलों को यूरिया खाद नहीं मिली तो फसलों में बड़े नुकसान की आशंका जताई जा रही है

आज सुबह से आष्टा नगर के व्यस्ततम मार्ग कन्नौज रोड पर आधार कार्ड के आधार पर यूरिया खाद की बिक्री की जा रही है जब हमारी टीम उन दुकानों का जायजा लेने पहुंची और किसानों से चर्चा हुई 2 किसानों ने बताया कि जहां हमें 10 बोरी यूरिया की आवश्यकता है तब दुकानदार द्वारा आधार कार्ड पर 2 बोरी यूरिया दिया जा रहा है सोसाइटी ओ में यूरिया की कमी के चलते किसान दुकानदारों से यूरिया खरीदने को मजबूर है इन दुकानदारों की दुकानों पर लंबी-लंबी कतारें लगी हुई है ऐसे में यूरिया खाद की कालाबाजारी को लेकर बाजार में चर्चाएं गर्म होती नजर आ रही है सरकार द्वारा यूरिया की कमी को पूरा करने के लाख दावे किए जाए लेकिन धरातल पर ऐसा कुछ भी नजर नहीं आता है

लंबे इंतजार के बाद आज आष्टा में यूरिया खाद के आने की खबर लगते ही गांव गांव से परेशान किसान आष्टा पहुंचा। जिस दुकान पर यूरिया खाद आया था उस दुकान पर यूरिया खाद लेने के लिए किसानों की लंबी लंबी लाइन देखी गई। दुकानदार का कहना है एक आधार कार्ड पर 2 बोरी यूरिया किसान को दी जा रही है।
जो काम सरकार का है वह काम हमें मजबूरी में करना पड़ रहा है। वही यूरिया खाद के लिए भटकता किसान एक और जहां कमलनाथ सरकार को कोस रहा है वही वह आप विदा हुई शिवराज सरकार को याद कर रहा है।
कन्नौद रोड पर खाद की दुकान के सामने किसानों की लंबी लंबी लाइन देखी गई।
कई घंटों तक किसानों को लाइन में लगने के बाद 2 बोरी खाद प्राप्त हुई।
वही खाद को लेकर मध्य प्रदेश सरकार भारत सरकार पर आरोप लगा रही है।
वही भारतीय जनता पार्टी खाद को मुद्दा बनाकर धरना प्रदर्शन और आंदोलन कर रही है।
दोनों ही सरकारें चाहे वो राज्य सरकार हो या केंद्र की सरकार हो के बीच खाद को लेकर तनातनी का माहौल बना हुआ है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!