Take a fresh look at your lifestyle.

आष्टा : उत्कृष्ट विद्यालय प्रबंधन की बड़ी लापरवाही, बगैर मास्क के परीक्षा देने और पेपर लेने पहुचे विद्यार्थी, ना मास्क ना सोशल डिस्टेनसिंग कोरोना को खुला निमंत्रण देते छात्र छात्रायें।

0 7

रिवीजन टेस्ट कुछ विद्यार्थियों ने स्कूल में दी परीक्षा, कुछ पेपर-कॉपी ले गए घर, अधिकांश ने नहीं लगाए थे मास्क


परीक्षार्थी बिना मास्क के आए नजर

आष्टा। नगर के उत्कृष्ट विद्यालय में शुक्रवार से कक्षा 9वीं से 12वीं तक के विद्यार्थियों का रिविजन टेस्ट शुरू हो गया। दो शिफ्ट में परीक्षा हुई। इसमें कुछ विद्यार्थियों ने स्कूल में परीक्षा दी। वहीं कई विद्यार्थी पेपर व कॉपी घर ले गए। घर से उत्तर लिखकर स्कूल में कॉपी जमा कराएंगे। कोरोना महामारी के चलते अब भी स्कूल बंद है। वहीं 9वीं से 12वीं के विद्यार्थियों को मार्गदर्शन लेने के लिए पालकों की सहमति पर स्कूल आने की छूट मिली है। अब इन विद्यार्थियों के रिविजन टेस्ट शुरू हुए हैं। शनिवार को उत्कृष्ट विद्यालय में 95 प्रतिशत परीक्षार्थी बिना मास्क के परीक्षा देने एवं उत्तर पुस्तिका व प्रश्न पत्र लेने के लिए पहुंचे थे। जो एक गंभीर विषय है  अगर इसी प्रकार से  नौवीं से बारहवीं तक के बच्चे बगैर मास्क के स्कूल में प्रवेश कर सकते हैं  तो करो ना का डर बढ़ता चला जा रहा है  ऐसे में  क्या  बच्चों को स्कूल में बुलाना  उचित होगा ? क्या छोटी कक्षाओं के  स्कूल  चालू करना  उचित निर्णय होगा ? प्रश्न्न्न काफी सारे है किंतु क्या् स्कूल प्रबंधन की बच्चों के प्रति जवाबदारी छात्रो के भविष्य के साथ खिलवाड़ करना कहां क्या प्रशासन इस ओर ध्यान देगा

हाला की प्राचार्य नारायण सिंह ठाकुर का कहना है कि हमने

बिना मास्क के विद्यालय में प्रवेश नहीं दिया है, जबकि विद्यालय परिसर में एवं परीक्षा कक्ष के बाहर तक बिना मास्क के परीक्षार्थी नजर आए। अगर हम इनकी बात माने तो प्रांगण में दिखने वाले 95% बिना मास्क लगाए हुए छात्र-छात्राएं कहां से आए और उन्होंने विद्यालय में प्रवेश कैसे किया

शुक्रवार-शनिवार को सुबह 10 से 12 बजे तक कक्षा 9 वीं व 10वीं और दोपहर 12 से 2 बजे तक 11वीं व 12 वीं का टेस्ट हुआ। उत्कृष्ट हायर सेकंडरी के छात्र बायो , कामर्स आदि विषय का पेपर दे रहे थे। जबकि अन्य विषयों के विद्यार्थी पेपर व कॉपी घर ले गए।

प्राचार्य नारायण सिंह ठाकुर ने बताया सुबह 9वीं व 10वीं के कुछ विद्यार्थियों ने स्कूल में परीक्षा दी। कोरोना महामारी के कारण विभाग ने पेपर व कॉपी घर ले जाकर लिखने के बाद जमा कराने की छूट दी है। इसके चलते घर ले जाने वाले विद्यार्थियों को कॉपी व पेपर दिए गए। उन्हें शनिवार को जमा कराना था। उन्होने बताया कक्षा 9वीं व 10वीं का गणित विषय का पेपर हुआ। जबकि कक्षा 11वीं व 12वीं के भूगोल, फसल उत्पादन, बहीखाता, रसायन का पेपर हुआ। रिवीजन टेस्ट 28 नवंबर तक चलेंगे।

5 तक पोर्टल पर अपलोड करना है रिजल्ट: प्राचार्य श्री ठाकुर ने बताया 28 नंवबर तक रिविजन टेस्ट चलेगा। इसके बाद मूल्यांकन कर 5 दिसंबर तक विमर्श पोर्टल पर रिजल्ट अपलोड करना होगा। वहीं इस टेस्ट के नंबर वार्षिक परीक्षा के रिजल्ट में जुड़ेंगे। इसके चलते विद्यार्थियों को पढ़ाई पर ध्यान देने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

30 तक बंद रहेंगे स्कूल
कोरोना महामारी के कारण नर्सरी से 8वीं तक 30 नवंबर तक स्कूल बंद है। वहीं हमारा घर-हमारा विद्यालय के तहत शिक्षक विद्यार्थियों के घर जाकर होमवर्क की जांच कर रहे हैं। विषय संबंधित कठिनाइयां दूर करने के साथ पढ़ा रहे हैं। इसके अलावा उन्हें होमवर्क देकर पढ़ाई करने पर जोर दे रहे हैं। वहीं दिसंबर में स्कूल शुरू होने को लेकर भी चर्चा का दौर जारी है लेकिन शासन से इसको लेकर आदेश नहीं आए हैं। उधर, कोरोना संक्रमण फिर से बढ़ने के चलते 30 दिसंबर तक स्कूल बंद रखने के आदेश भी जल्द आने की संभावना है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!