Take a fresh look at your lifestyle.

आष्टा : अदालत चौराहे पर बनेगी नगर की आधुनिक लायब्रेरी ,नपाध्यक्ष के प्रयासों से शासन द्वारा आवंटित की गई नपा को निःशुल्क भूमि।

0 1

अदालत चौराहे पर बनेगी नगर की आधुनिक लायब्रेरी
नपाध्यक्ष के प्रयासों से शासन द्वारा आवंटित की गई नपा को निःशुल्क भूमि
आष्टा। नगर में सर्वसुविधायुक्त आधुनिक लायब्रेरी का अभाव है इस कारण शासकीय, अशासकीय शिक्षण संस्थाओं के छात्र-छात्राओं के साथ ही अध्यापकों को भी अपने अध्यापन कार्य के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा था और नगर में ऐसा कोई स्थान भी नही था जहां एक ही छत के नीचे सभी तरह की प्रतियोगी परीक्षाओं की पुस्तकें उपलब्ध हो सकें। इन पुस्तकों की अनुपलब्धता की वजह से नगर के छात्र-छात्राएं प्रतियोगी परीक्षाओं में पिछड़ रहे थे और वह इंदौर-भोपाल जैसे महानगरों की ओर रूख कर रहे थे। इन सब परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए पिछले एक वर्ष से नगरपालिका नगर में निवासरत छात्र-छात्राओं के लिए आधुनिक लायब्रेरी की जगह तलाश रही थी, क्योंकि नगर में नगरपालिका के पास ऐसी कोई भूमि या स्थान नही था जहां पर आधुनिक लायब्रेरी की स्थापना हो सकें। नपाध्यक्ष कैलाश परमार द्वारा मध्यप्रदेश शासन को उक्त समस्या से अवगत कराया गया था और इसके लिए प्रमुख सचिव एसआर मोहंती से मुलाकात भी की गई थी। छात्र-छात्राओं के हितों को ध्यान में रखते हुए मुख्य सचिव द्वारा प्रमुख सचिव राजस्व मनीष रस्तोगी को अदालत चौराहे पर उपलब्ध शासकीय भूखंड को नगरपालिका आष्टा को उपलब्ध करवाने हेतु आदेश दिया गया था।
इस आशय की जानकारी देते हुए नपाध्यक्ष कैलाश परमार ने बताया कि नगरपालिका को शासकीय भूमि खसरा क्रमांक 423/5, रकबा 0.735 हेक्टेयर में से 206.24 वर्गमीटर अदालत चौराहे पर निःशुल्क भूमि उपलब्ध हुई है जिसका वर्ष 2017-18 की वर्तमान गाईड लाईन अनुसार बाजार मूल्य लगभग 48 लाख रूपये होता है। जिस पर शीघ्र ही नगरपालिका आधुनिक लायब्रेरी का निर्माण करने जा रही है, जिसके टेंडर भी जारी किए जा चुके है। उक्त लायब्रेरी की स्थापना से शासकीय, अशासकीय छात्र-छात्राओं को पठन-पाठन के लिए सर्वसुविधायुक्त उपर्युक्त स्थान उपलब्ध हो सकेगा, वहीं आईएएस, आईपीएस जैसी श्रेष्ठतम्् प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए भी विभिन्न पुस्तकें उपलब्ध हो सकेगी। वहीं एक ही छत के नीचे धार्मिक, साहित्यिक व अन्य गतिविधियों की पुस्तकें भी पढ़ने के लिए उपलब्ध हो सकेगी। प्रतियोगी परीक्षाओं की पुस्तकें बहुत महंगी होती है जो कि हर किसी के लिए सहज उपलब्ध नही होती है और पुस्तकों के अभाव में प्रतिभाएं चाहकर भी निखर नही पाती है। इस निःशुल्क भूमि के आवंटन से छात्र-छात्राओं को एक आधुनिक लाइब्रेरी की सौगात उपलब्ध हो सकेगी। नपाध्यक्ष श्री परमार ने यह भी बताया कि वर्तमान परिषद द्वारा दरगाह के सामने लगभग 62 करोड़ के बाजार मूल्य की (शासकीय गाईड लाईन अनुसार) 35 एकड़ भूमि पूर्व में निःशुल्क नपा ने प्राप्त की है जिस पर स्वीमिंग पुल सहित विभिन्न खेलों से संबंधित विकास कार्य निर्माणाधीन है। इसके अलावा हमीदखेड़ी में 13 एकड़ भूमि भी नगरपालिका के पास नगर का कचरा डम्प करने के लिए उपलब्ध है। इस निःशुल्क भूमि के आवंटन पर नपाध्यक्ष कैलाश परमार सहित संपूर्ण परिषद ने नगर की ओर से मुख्यमंत्री कमलनाथ, राजस्व मंत्री गोविंदसिंह राजपूत, विभागीय मंत्री जयवर्धनसिंह, प्रभारी मंत्री आरिफ अकील, लोनिवि मंत्री सज्जनसिंह वर्मा, मुख्य सचिव एसआर मोहंती, प्रमुख सचिव राजस्व मनीष रस्तोगी, सचिव जीव्ही रश्मी, कलेक्टर अजयकुमार गुप्ता के साथ ही स्थानीय प्रशासन का भी आभार व्यक्त किया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!