Take a fresh look at your lifestyle.

आष्टा : लम्बित प्रकरणों का जल्द से जल्द निराकरण हो-डॉ. आशीष,डी.आई.जी

0 0

अनुविभागीय अधिकारी पुलिस के कार्यालय में डीआईजी डॉ आशीष ने स्थानीय पुलिस अधिकारियों से विभिन्न विषयों में जानकारी प्राप्त की तथा आष्टा और जावर तहसील में घटित होने वाले आपराधों के साथ साथ प्रकरण की विवेचना को लेकर भी दिशा निर्देश दिए। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक एसएस चौहान भी मौजूद थे। अनुविभागीय अधिकारी पुलिस के कार्यालय में स्थानीय थाने के नगर निरीक्षकों के साथ साथ अन्य थाना क्षेत्रों के निरीक्षक भी मौजूद थे

420 सहित हत्या व आत्महत्या के प्रकरणों के लंबित होने पर डीआईजी ने नाराजगी व्यक्त की ।
आष्टा। बुधवार की शाम को भोपाल संभाग के डीआईजी डॉक्टर आशीष शर्मा एसडीओपी कार्यालय में पहुंचे और वहां उन्होंने क्षेत्र के चारों थानों के थाना प्रभारियों की एक बैठक ली।

इस समीक्षा बैठक के दौरान लंबित क्राइम प्रकरणों के साथ ही हत्या व आत्महत्या के प्रकरणों पर अपनी नाराजगी व्यक्त की ।साथ ही उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि किस प्रकार मर्ग आदि के मामलों में जांच की जाना चाहिए एवं विवेचक को क्या- क्या करना चाहिए।


प्राप्त जानकारी के अनुसार डीआईजी डॉ आशीष जिला पुलिस अधीक्षक शिशेन्द्र सिंह चौहान के साथ 19 जून की शाम 4:30 बजे के करीब एसडीओपी कार्यालय में पहुंचे और वहां उन्होंने एसडीओपी विरेन्द्र कुमार मिश्रा नगर निरीक्षक कुलदीप खत्री, पार्वती थाना के प्रभारी प्रवीण जाधव,जावर नगर निरीक्षक योगेंद्र सिंह यादव एवं सिद्दीकगंज थाना प्रभारी मधु सिंह कनेश के थाना क्षेत्रों में लंबित क्राईम प्रकरण तथा मर्ग आदि की करीब डेढ़ घंटे तक समीक्षा की और साधारण लंबित प्रकरणों पर नाराजगी भी व्यक्त की।

डीआईजी डॉक्टर आशीष ने कहा कि जावर थाना क्षेत्र में । उन्होंने मर्ग सहित अन्य प्रकरणों पर भी बारीकी से समीक्षा कर निर्देशित किया कि इन प्रकरणों का त्वरित निराकरण हो जाना चाहिए था ,लेकिन इन्हें लंबित रखा गया है ।

जावर एवं पार्वती थाना क्षेत्र के भी कुछ प्रकरणों पर उन्होंने पूरी जानकारी प्राप्त की और निर्देशित भी किया।


डीआईजी डॉक्टर शर्मा पदभार ग्रहण करने के पश्चात पहली बार आष्टा आए थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!